Top Ad 728x90

Wednesday, 24 July 2019

नशामुक्ति कार्ययोजना

 

नशामुक्ति के लिए व्यापक कार्ययोजना तैयार करें: कलेक्टर

 

धमतरी। जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्टोरेट सभाकक्ष में कलेक्टर रजत बंसल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने विभिन्न एजेण्डों पर चर्चा की। इस दौरान कलेक्टर ने विभिन्न मरम्मत एवं सुधार कार्यों की स्वीकृति दी, साथ ही स्वास्थ्य विभाग में संचालित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा योजनावार की।बैठक  में कलेक्टर रजत बंसलन्होंने कहा कि चूंकि अब अधिकांश ग्रामीण स्वास्थ्य सहायक और ए.एन.एम. अपने कार्यालय मुख्यालय में ठहर रहे हैं, तो ऐसे में संस्थागत प्रसव और रात्रिकालीन सेवाओं में इजाफा होना चाहिए। साथ ही सभी उप स्वास्थ्य केन्द्रों में प्राथमिक उपचार सहित मौसमी बीमारियों व विभिन्न संचारी, गैरसंचारी रोगों की दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने और मितानिनों की दवा पेटी में भी निर्धारित दवाएं, जीवन रक्षक घोल अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराने की बात कही। इसके अलावा जिला अस्पताल के भण्डार कक्ष में फर्शीकरण के निविदा जारी करने, ओपीडी में मरम्मत कार्य का पूर्णता प्रमाण-पत्र जारी करने, सिक्योरिटी गार्ड की 24 घण्टे की तैनाती, जीवनदीप समिति में चतुर्थ श्रेणी की भर्ती के संबंध में विज्ञापन जारी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। इसी तरह खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा की गई कार्रवाइयों की जानकारी बैठक में दी गई। कलेक्टर ने कोटपा एक्ट के तहत सतत् कार्रवाई करने तथा नशामुक्ति के लिए व्यापक कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश डा. तुर्रे को दिए। साथ ही जिले में मातृ एवं शिशु टीकाकरण, बारिश के मौसम में प्रायः होने वाली बीमारियों एवं उनसे बचाव व विभाग द्वारा की गई तैयारियों के बारे में भी बैठक में जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. डी.के. तुर्रे ने दी।
कलेक्टोरेट सभाकक्ष में  आयोजित बैठक में चिरायु दल द्वारा स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में किए गए दौरों का प्रति सप्ताह प्रतिवेदन तैयार करने, पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती किए गए बच्चों की विकासखण्डवार जानकारी बैठक में दी गई। सीएमएचओ ने बताया कि खेती-किसानी का सीजन होने की वजह से एनआरसी में भर्ती होने वाले बच्चों की संख्या अपेक्षाकृत कम हो गई है। इसी तरह मलेरिया की जानकारी देते हुए बताया कि इससे निबटने गत वर्ष जिले में एक लाख मच्छरदानी का वितरण किया गया थासे बचाव के लिए ग्राम स्तर पर प्रचार-प्रसार करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। इस अवसर पर सिविल सर्जन डाॅ. मूर्ति, वरिष्ठ चिकित्सक डा. बी.के. साहू, नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. जे.एस. खालसा सहित जिला एवं ब्लाॅक स्तर के चिकित्सक उपस्थित थे।

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90