जैविक खेती को बढ़ावा देने किसान बाजार का फिर से होगा कायाकल्प



कलेक्टर ने जैविक सब्जी हेतु अलग काउण्टर खोलने व कोल्ड स्टोरेज के लिए प्रस्ताव तैयार करने निर्देश दिए

धमतरी ,प्रदेश शासन की महत्वाकांक्षी परियोजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के तहत कलेक्टर रजत बंसल ने सुबह किसान बाजार का भ्रमण किया। उन्होंने सब्जी उत्पादक किसानों को जैविक सब्जी उत्पादन से जोड़ने के लिए उनकी सहभागिता बढ़ाने व जैविक पद्धति  से तैयार किए गए उत्पादों का विक्रय करने के लिए दो पृथक काउंटर खोलने के निर्देश दिए। साथ ही किसान बाजार को शत-प्रतिशत पॉलिथीन फ्री जोन बनाने के लिए महिला स्व सहायता समूहों को जोड़कर कैरी बैग निर्माण कराए जाने के निर्देश दिए। इसके अलावा सब्जियों के सुव्यवस्थित रखरखाव के लिए कोल्ड स्टोरेज स्थापना करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारी को दिए।

  कलेक्टर श्री बंसल ने आज सुबह स्थानीय पुरानी कृषि उपज मंडी परिसर में जाकर हरी व ताजी सब्जियां खरीदी, साथ पूरे परिसर का अवलोकन एवं निरीक्षण कर किसान बाजार का नए सिरे से कायाकल्प करने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया। जिले के किसानों को अधिक से अधिक जैविक सब्जी की पैदावार से जोड़ने तथा किसानों की सहभागिता बढ़ाने के लिए कार्ययोजना तैयार करने की बात कही। किसान बाजार में पंजीकृत किसानों की संख्या में वृद्धि करने के लिए कृषि विस्तार अधिकारियों के द्वारा अपने-अपने क्लस्टर में किसानों की बैठकें लेकर उन्हें जानकारी देने व जैविक खेती के लाभ के बारे में प्रचारित करने के निर्देश दिए। इसके पहले सभी कृषि विस्तार अधिकारियों को कृषि, उद्यानिकी विभाग और आत्मा योजना के तहत प्रशिक्षित करने के लिए भी कलेक्टर ने निर्देशित किया। साथ ही किसान बाजार क्षेत्र को शत-प्रतिशत पॉलिथीन एवं प्लास्टिक फ्री जोन बनाने के निर्देश दिए। पॉलिथीन के स्थान पर सब्जी क्रेताओं को कैरी बैग मुहैया कराने महिला स्वसहायता समूहों को तैयार करवाने की बात कही, जिससे इन समूहों को भी आय प्राप्त हो सके। इस दौरान बताया गया कि किसान बाजार में आने वाले लोग अपने साथ थैला लेकर आते हैं। इसी तरह सब्जियों के समुचित रखरखाव के लिए कोल्ड स्टोरेज की स्थापना के लिए राज्य शासन को प्रस्ताव भेजने के भी निर्देश कलेक्टर ने कृषि विभाग के अधिकारी को दिए। साथ ही सब्जियों से निकलने वाले कचरे को रिसाइकल कर उनसे जैविक खाद तैयार करने के लिए नगर निगम के अधिकारी को कचरा प्रबंधन सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया।
इसी प्रकार हरी सब्जी के अलावा देसी अंडे, आलू और प्याज आदि के लिए पृथक काउंटर लगाने के लिए निर्देशित किया। किसान बाजार में आने वाली जैविक सब्जियों की खपत को बढ़ाने व जैविक पद्धति से खेती करने वाले किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए कलेक्टर ने शहर के होटलों, जिला अस्पताल एवं निजी अस्पतालों, आश्रम-छात्रावासों को लिंक कर वहां जैविक सब्जियों की आपूर्ति करने के लिए निर्देशित किया। सहायक संचालक उद्यानिकी ने बताया कि वर्तमान में किसान बाजार में पसरा लगाने वाले 220 किसान पंजीकृत है। उन्होंने यह भी बताया कि बिचैलियों की मध्यस्थता खत्म करने के लिए सब्जी उत्पादित करने वाले किसान ही यहां स्वयं सब्जियां बेचते हैं। त्योहार की वजह से सब्जी विक्रेताओं की संख्या घट गई है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने