शराबी पति से तंग आकर बहन के साथ मिलकर कर दी हत्या

 

एएसपी मनीषा ठाकुर ने किया खुलासा

भूपेंद्र साहू
धमतरी ।नगरी थाना क्षेत्र के ग्राम डोंगरडुला में हुए हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है।हत्या का आरोपी कोई और नहीं बल्कि सहायक आरक्षक की पत्नी और उसकी साली ही निकले। जिन्होंने रस्सी से गला घोटकर वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

ग्राम जबर्रा निवासी मनोहर मरकाम पुलिस विभाग में सहायक आरक्षक के पद पर रहते हुए नक्सल क्षेत्र के लिए बनाए गए डीआरजी में शामिल था। 5 फरवरी को उसकी पत्नी लक्ष्मी बाई मरकाम ने नगरी थाना में आकर सूचना दी कि मनोहर मरकाम 4 फरवरी की रात को करीब 9 बजे शराब के नशे में लड़खड़ाते हुए बेहोश होकर गिर गया था. जिसे इलाज के लिए नगरी अस्पताल लेकर गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।13 को आये  पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने मामले का रुख ही बदल दिया। रिपोर्ट में गला के दबने से मौत यानी हत्या बताया गया ।
 
पुलिस इस मामले में हत्या का अपराध दर्ज कर जांच में जुट गई। एएपी मनीषा ठाकुर स्वयं इस जांच में घटनास्थल और गांव पहुंची थी।शक के आधार पर घर में मौजूद मनोहर की पत्नी लक्ष्मी बाई मरकाम और साली दामिनी नेताम से पुलिस ने दोनों से अलग-अलग बिंदुओं में पूछताछ की। इस दौरान दोनों ही मनगढ़ंत कहानियां बनाते रहे।लेकिन ज्यादा दिन तक पुलिस को चकमा नहीं दे पाए और अपनी बातों में फंस गए। और अपराध करना कबूल लिया। बताया कि मनोहर मरकाम शराबी था जो कि शराब के नशे में अनाप-शनाप गाली गलौज करते हुए लड़ाई करता था। 4 फरवरी की रात को भी वह शराब के नशे में धुत होकर अपने ससुराल डोंगरडुला आया हुआ था. जहां रात में फिर से वह गाली गलौज करने लगा। जिससे परेशान होकर दोनों ने रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी।बहरहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर रिमांड पर पर जेल भेज दिया है। इस गुत्थी को सुलझाने में नगरी थाना प्रभारी एनएस ठाकुर, एएसआई चंद्रशेखर गेडाम, ध्रुव कुमार सिन्हा, योगेश ध्रुव, भूपेंद्र पदमशाली, सीमा निषाद, आरती ध्रुव, संतोषी ध्रुव, का योगदान रहा।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने