कुरूद तहसील कार्यालय का कलेक्टर ने किया औचक निरीक्षण


आने वाले सभी पक्षकारों व लोगों के लिए मास्क अनिवार्य करने तथा सैनिटाइज करने के दिए निर्देश
 

धमतरी 16 सितंबर 2020।कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने बुधवार को तहसील कार्यालय कुरूद का आकस्मिक निरीक्षण किया, जहां पर प्रतिदिन आने वाले स्टाफ, अर्जीनवीस, सभी पक्षकारों व आम नागरिकों को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, प्रतिदिन कार्यालय को सैनिटाइज करने व राजस्व से संबंधित सभी प्रकरणों को आॅनलाइन निराकृत करने के निर्देश दिए।  कलेक्टर प्रवास के दौरान तहसील कार्यालय कुरूद पहुंचे, यहां पर उन्होंने न्यायालय तहसीलदार, नायब तहसीलदार तथा लोक सेवा केन्द्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने आवश्यकतानुसार ही पक्षकारों को बुलाने व अनावश्यक भीड़ नहीं जुटने देने के लिए एसडीएम कुरूद  योगिता देवांगन को निर्देशित किया। इसके अलावा सभी प्रकार की आॅफलाइन सेवाओं को समाप्त करते हुए आॅनलाइन माध्यम से राजस्व प्रकरणों को शत-प्रतिशत निष्पादित करने के निर्देश दिए। साथ ही कलेक्टर ने राजस्व के सभी प्रकार के अभिलेखों की दुरूस्ती कर पंजियों का आॅनलाइन नामांतरण व विवादित/अविवादित बंटवारा, बटांकन के कार्य पूर्ण करने के भी निर्देश दिए।

इसके उपरांत कलेक्टर ने सिविल अस्पताल कुरूद का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने विभिन्न वार्डों में जाकर निरीक्षण कर बी.एम.ओ. को आवश्यक दिशानिर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर ने उपचार के लिए भर्ती मरीजों से मिलकर उनका स्वास्थ्यगत हालचाल जाना। साथ ही मरीजों से बातचीत कर सिरदर्द, सर्दी, खांसी, बुखार जैसे लक्षण होने पर तत्काल कोविड की जांच कराने के लिए कहा, जिससे समय रहते उपचार हो सके। इस दौरान उन्होंने स्वयं तथा अपने अमले के साथ कोविड टेस्ट भी कराया। तत्पश्चात् कलेक्टर ने नवीन मण्डी परिसर रोड पर स्थित बालक छात्रावास का निरीक्षण किया। उक्त भवन को आइसोलेशन सेंटर के तौर पर विकसित करने के लिए एसडीएम, स्वास्थ्य अधिकारी तथा सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को संयुक्त रूप से समन्वय स्थापित कर आवश्यक कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया।

 ग्राम सारंगपुरी, देवपुर के गौठानों का निरीक्षण कर कलेक्टर ने समूह की महिलाओं से की चर्चा

  गोधन न्याय योजना के तहत कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने सुबह धमतरी विकासखण्ड की ग्राम पंचायत सारंगपुरी व देवपुर का निरीक्षण कर गौठानों का जायजा लिया तथा समूह की महिलाओं से वर्मी खाद के गुणवत्तापूर्वक उत्पादन के लिए जोर दिया। साथ ही हल्का पटवारियों के द्वारा किए जा रहे गिरदावरी की कार्य-प्रगति का मौके पर जाकर मुआयना करते हुए आवश्यक निर्देश दिए।निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने हल्का पटवारियों को बुलाकर उनके द्वारा किए जा रहे गिरदावरी के कामों को मौके पर जाकर देखा। उन्होंने यह स्पष्ट किया कि धान की वास्तविक फसल का रकबा का रिकाॅर्ड तैयार करें। सब्जीवर्गीय व अन्य फसलों की कैफियत पृथक् से दर्शाएं। यह शासन का महत्वपूर्ण कार्य है और किसी भी सूरत में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।



 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने