कोरोना संक्रमण को देखते हुए शहर में लॉक डाउन की मांग



प्रमुख विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद दुकान समय पर लिया जाएगा निर्णय



धमतरी |  जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या रोजाना बढ़ रही है लोगों में अभी बीमारी के प्रति खौफ दिखा जा रहा है। हालांकि कई लोग मास्क एवं अन्य गाइडलाइन का पालन करते हुए नहीं दिखाई देते लेकिन जन भावना को देखते हुए शहर के जनप्रतिनिधि व्यवसायी व बुद्धिजीवियों ने कलेक्टर से मिलकर जिले में लॉक डाउन या कंटेनमेंट जोन घोषित करने की मांग की है।कोरोना से मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है |

कोरोना के खिलाफ जंग में पहली बार धमतरी के सभी समाज के प्रमुख और व्यवसायिक संगठनों के लोग एकजुट हुए |  सोमवार को कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य से मिलकर धमतरी शहर को कंटेनमेंट जोन घोषित करने की मांग की ताकि कोरोना संक्रमण के खतरे से लोगो को बचाया जा सके।

समाज प्रमुखों की बातों को सुनने के बाद कलेक्टर ने लॉकडाउन से तो इंकार किया है लेकिन आश्वासन दिया है कि इस सम्बंध में अपने उच्चाधिकारियों से बातकर उचित निर्णय लेंगे। फिलहाल उन्होंने जनभावना का सम्मान करते हुए दुकानों के समय में परिवर्तन करने की बात कही है उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिए पहले  प्रमुख विभागों के अधिकारियों, पुलिस अधीक्षक के साथ बैठक करेंगे उसके बाद निर्णय लिया जाएगा।
                  बाईट-जेपी मौर्य कलेक्टर धमतरी

इस अवसर पर विधायक रंजना साहू , दीपक लखोटिया, अब्दुल रज़्ज़ाक रिज़वी, महेश रोहरा, नरेन्द्र रोहरा, सूर्याराव पवार, हेमलता शर्मा, पार्वती वाधवानी, राजेन्द्र शर्मा, प्रकाश थारवानी, दिलीप सोनी, योगेश गांधी, कविन्द्र जैन, मुकेश जैन, अवनेन्द्र साहू, गुड्डा रजक, अर्जुन लखवानी, सुशीला तिवारी. महेश जसूजा, दिलावर रोकडिय़ा, अशफक हाशमी, संत रविकर साहेब, प्रीतपाल छाबड़ा आदि मौजूद थे |

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने