अपने गांव के बेटे को अंतिम विदाई देने उमड़े लोग, आंखें हुई नम

 




धमतरी।अपने गांव के बेटे को अंतिम विदाई देने परसतराई के ग्रामीण उमड़ पड़े नम आंखों से अंतिम संस्कार किया गया। आइटीबीपी में पदस्थ जवान डेमन लाल साहू की 17 अक्टूबर को कानपुर में मौत हो गई थी सोमवार सुबह शव के गांव पहुंचने पर अंतिम दर्शन के लिए लोग उमड़ पड़े। विधि विधान से अंतिम संस्कार किया गया ।


अर्जुनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम परसतराई निवासी डेमन लाल साहू 34 वर्ष  पिता स्व विष्णु साहू 2007 से भारतीय तिब्बत बॉर्डर पुलिस में भर्ती हुआ था। जम्मू कश्मीर, रांची, पश्चिम बंगाल के बाद कुछ ही महीनों पहले उसकी पोस्टिंग कानपुर में हुई थी। डेमन के मित्र भूपेंद्र निर्मलकर ने बताया कि 16 अक्टूबर को डेमन की तबीयत बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था और 17 को उसकी मौत हो गई। सूचना मिलते ही गांव में शोक की लहर दौड़ गई थी ।सोमवार की सुबह आइटीबीपी के जवान शव को लेकर जब गांव पहुंचे तो माहौल गमगीन हो गया ।कुछ देर तक अंतिम दर्शन के लिए ताबूत को रखा गया था ।उसके बाद बाजे गाजे के साथ नम आंखों से अंतिम यात्रा निकाली गई ।



आईटीबीपी के जवानों के साथ परिजन और ग्रामीणों ने कंधा दिया ।अंतिम संस्कार स्थल पर आईटीबीपी के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया ।इस दौरान अर्जुनी थाना प्रभारी उमेंद्र टंडन सहित पुलिस कर्मचारी मौजूद थे ।बताया गया कि उनके परिवार में बड़ा भाई खिलेंद्र साहू, मां रेखा बाई, पत्नी दीपिका के अलावा 3 साल की बेटी और 1 साल का बेटा है।डेमन की प्राइमरी शिक्षा परसतराई में ही में लेने के बाद खरतुली स्कूल से 12वीं करने के बाद 2007 में आइटीबीपी में भर्ती हुआ था।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने