जिले में पर्याप्त संख्या में रेत खदानें स्वीकृत,अवैध रेत उत्खनन की शिकायतें नहीं आनी चाहिए

 


 अधिकारी  ‘वर्क मोड‘ में वापस आकर फिर से प्रशासनिक कार्यों में जुट जाएं-कलेक्टर



धमतरी 18 नवम्बर 2020। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने समय-सीमा की साप्ताहिक समीक्षा बैठक लेकर जिला स्तर के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अब वे पुनः सक्रियता के साथ विभागीय एवं प्रशासनिक कार्याें का निर्वहन करें। साथ ही कोविड-19 से बचने के लिए समय-समय पर जारी शासन के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए पूरी सुरक्षा तथा सतर्कता के साथ आवश्यक उपाय सुनिश्चित करने के लिए भी कहा। उन्होंने सभी अधिकारियों से प्रशासनिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए लंबित आवेदनों एवं प्रकरणों को निर्धारित समय-सीमा में गुणवत्तापूर्वक निबटारा करने के लिए भी निर्देशित किया।



समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर ने अधिकारियों को ‘वर्क मोड‘ में वापस आकर फिर से प्रशासनिक कार्यों में जुट जाने की बात कही। उन्होंने निर्माणी विभागों एवं एजेंसियों को नए एवं आवश्यक कार्यों का प्रस्ताव एवं प्राक्कलन तैयार कर शासन को पत्र लिखने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने बैठक में कहा कि चूंकि जिले में पर्याप्त संख्या में रेत खदानें स्वीकृत हैं, इसलिए अवैध रेत उत्खनन की शिकायतें नहीं आनी चाहिए। उन्होंने अवैध रेत खनन एवं परिवहन करने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई करने के लिए खनिज अधिकारी, अनुविभागीय अधिकारी तथा जनपद पंचायतों के सी.ई.ओ. को निर्देशित किया।


 इसी तरह मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की समीक्षा करते हुए कुपोषित बच्चों व गर्भवती महिलाओं को टारगेट करते हुए सुरक्षात्मक उपायों के साथ रेडी टू ईट व गर्म भोजन के वितरण के लिए कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिए। 

आगामी एक दिसम्बर से शासन द्वारा की जाने वाली धान-खरीदी के लिए सभी समितियों में मूलभूत सामग्री व उपकरण सुनिश्चित करने, शत-प्रतिशत समितियों में चबूतरा निर्माण पूर्ण करने तथा जरूरी नियमों-निर्देशों का समिति स्तर पर प्रचार-प्रसार के लिए भी कलेक्टर ने निर्देश दिए। इसके अलावा सभी समितियों में आॅक्सीमीटर, हैण्डवाॅश, सैनिटाइजर की व्यवस्था के साथ, समिति के कर्मचारियों सहित किसानों को मास्क लगाने तथा कोविड-19 के लक्षण वाले किसानों को टोकन जारी करने के लिए आगामी तिथि में अतिरिक्त समय देने के लिए निर्देशित किया।



ऑनलाइन क्लास के नाम पर शुल्क 

इंग्लिश मीडियम स्कूल भवन निर्माण की धीमी गति परय असंतोष जाहिर करते हुए अगले 25 दिनों के भीतर सभी कार्य पूर्ण करने व अधोसंरचना विकसित करने के लिए लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता को निर्देशित किया। कलेक्टर ने निजी स्कूलों में आॅनलाइन क्लास के नाम पर लिए जा रहे शुल्क को रोकने के लिए निजी स्कूल संचालकों की बैठक लेने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि कई निजी स्कूल प्रबंधन के द्वारा शिक्षण शुल्क में अप्रत्यक्ष रूप से अन्य शुल्क को जोड़कर पालकों से फीस वसूली जा रही है, जो कि उच्च न्यायालय से जारी निर्देशों के प्रतिकूल है। उन्होंने ऐसे स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। इसी तरह शासकीय स्कूलों के अच्छे शिक्षकों की विषयवार सूची तैयार कर उन्हें प्रशिक्षित कर कक्षा 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड कक्षाओं के विद्यार्थियों पर फोकस करते हुए सुचारू ढंग से शिक्षण व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए डी.ई.ओ. को निर्देशित किया।


बैठक में कलेक्टर ने नवनिर्मित तहसील भखारा को संचालित करने 73 गांवों के नकल, राजस्व प्रतिवेदन एवं अन्य आवश्यक दस्तावेजों को कुरूद तहसील से लेकर भखारा में हस्तांतरित करने एवं ई-कोर्ट का संचालन करने के निर्देश एसडीएम कुरूद को दिए।



 लगेंगे जनसमस्या निवारण शिविर-

 समय-सीमा बैठक में कलेक्टर ने जिले के सभी विकासखण्ड में माह के पहले व चौथे शनिवार को जनसमस्या निवारण शिविर आयोजित करने के निर्देश जनपद पंचायतों के सी.ई.ओ. को दिए। उन्होंने कहा कि शिविर की तिथि से 20 दिन पहले ग्रामीणों से आवेदन प्राप्त कर लें तथा शिविर वाली तिथि में उसका निराकरण किया जाएगा। आवश्यकतानुसार जिला स्तर के अधिकारी भी शिविर में उपस्थित रहेंगे। शिविर के आयोजन के लिए 15-20 गांवों का क्लस्टर निर्धारित करने के भी निर्देश जनपद पंचायतों के सी.ई.ओ. को दिए, ताकि अधिक संख्या में भीड़ एकत्रित न होने पाए। बैठक में अपर कलेक्टर दिलीप कुमार अग्रवाल सहित जिला स्तर के अधिकारीगण उपस्थित थे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने