मेरा देहांत हो गया है गुरुजी ... आधे दिन की छुट्टी चाहिए'

अपनी ही मृत्यु का हवाला देकर  छात्र ने मांग ली छुट्टी 

प्रिंसिपल ने प्रार्थना पत्र ग्रांटेड’ कर  दे दी छुट्टी

कानपुर।  एक स्कूल के छात्र ने प्रार्थना पत्र में अपनी ही मृत्यु का हवाला देकर छुट्टी मांग ली। प्रधानाचार्य ने लाल रंग से  ‘ग्रांटेड  लिखते हुए छुट्टी भी दे दी।


जीटी रोड स्थित एक स्कूल में लाला (बदला हुआ नाम) कक्षा आठ के छात्र  को छुट्टी चाहिए थी। उसने स्कूल के प्रधानाचार्य के नाम एक पत्र लिखा। पत्र की शुरुआत में ही उसने लिखा, ‘सविनय निवेदन है कि प्रार्थी का 20 अगस्त को 10 बजे देहांत हो गया है। महोदय से अनुरोध है कि प्रार्थी को हाफ टाइम से अवकाश प्रदान करने की कृपा करें, महान दया होगा।’


प्रधानाचार्य ने लाल रंग से लिखा  ‘ग्रांटेड’  और अपने हस्ताक्षर कर दिए। छात्र को तो छुट्टी मिल गई और वह स्कूल से चला गया। छात्र ने किसो को इसके बारे में नहीं बताया। वह आवेदन कुछ दिन छिपाए रहा। आपस में दोस्तों से चर्चा के बाद यह प्रार्थना पत्र जब शिक्षकों के बीच पहुंचा तो चर्चा का विषय बन गया। इसकी शिकायत प्रबंधन और विभाग में भी की गई है लेकिन फिलहाल इस मुद्दे पर कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है।कहा जा रहा है कि प्रिंसिपल बच्चों के प्रार्थना पत्र ले जाने पर उनसे मौखिक पूछते हैं कि क्या बात है। छात्र के बताने पर ही सहज भाव से बगैर देखे हस्ताक्षर कर देते हैं। प्रिंसिपल की इसी सहजता का लाभ उठाते हुए छात्र ने हस्ताक्षर करा लिए। अब स्कूल ही नहीं बाहर भी इसकी खूब चर्चा है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने