मुख्य नहर हुआ क्षतिग्रस्त,नहर में रोका गया पानी



अधिकारियों की लापरवाही,हो सकता था बड़ा हादसा 

भूपेंद्र साहू
धमतरी।महानदी के मुख्य नहर में खतरनाक कटाव शुरू हो गया है, एनएच 30 के किनारे छाती गांव के पास मुख्य वितरक नहर के किनारे पानी के  बहाव को झेल नही पाया औऱ् धीरे धीरे नहर का किनारा पानी में बहने लगा है।बीते दिनो किसानो की मांग पर सरकार ने गंगरेल बांध से पानी छोड़ने का फैसला किया था। जिसके बाद लगातार नहर में पानी छोड़ा जा रहा है।
 
कायदे से हर बरसात के पहले जलसंसाधन विभाग का जिम्मा होता है कि वो तमाम नहरो की मरम्मत करे।लेकिन  नहर के दोनो तरफ जो पत्थरो औऱ् टाईलो की परत लगी थी वो भी उखड़ चुकी थी।जिसे समय रहते ठीक नहीं किया गया था औऱ् जब पानी का बहाव तेज हुआ तो मिट्‌टी की दीवार इसे झेल नहीं पाई।नहर के कटाव की खबर से जलसंसाधन विभाग में खलबली मच गई। 
 
विभाग के ईई खुद मौके का मुआयना करने पहुंचे और उन्हे तत्काल नहर में पानी बंद करने का फैसला लेना पड़ा है।अब नहर के किनारो की मरम्म्त के बाद ही दोबारा बांध से पानी छोड़ा जाएगा।फिलहाल ये गनीमत की बात है कि समय रहते ये खतरनाक कटाव नजर में आ गया।अगर नहर के किनारे बह जाता तो बड़े पैमाने पर नुकसान का अंदेशा था। उच्च अधिकारियों के आदेश पर रुद्री बराज मुख्य कैनाल से सुबह 9 बजे 5100 क्यूसेक पानी की जावक थी।उसके बाद पानी का बहाव कम करना शुरू किया गया है जो दोपहर 1:30 तक 1000 क्यूसेक कर दिया गया 

 जल संसाधन विभाग के ईई केके मिश्रा, ने बताया कि छाती के पास राइट साइड कटाव की खबर मिली थी जानकारी मिलते हैं अभी तुरंत पहुंच गए हैं और नहर से पानी को बंद करवाया गया है। पानी बंद होने के बाद ही मरम्मत का कार्य शुरू किया जाएगा बोरी रखी जाएगी उसके बाद ही फिर से पानी की शुरुआत होगी यह 40 वर्षों से अधिक पुराना  है आगे इसमें मरम्मत की जाएगी।
 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने