मुख्यमंत्री के प्रस्तावित कण्डेल प्रवास के मद्देनजर प्रभारी मंत्री ने किया निरीक्षण




बेहतर व्यवस्था बनाने अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश
 


धमतरी, प्रदेश के वाणिज्यिक कर (आबकारी), वाणिज्य एवं उद्योग तथा जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने आज धमतरी विकासखण्ड के गौरव ग्राम कण्डेल का प्रवास किया। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का यहां आगमन आगामी चार अक्टूबर को प्रस्तावित है, जिसकी जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों को लेकर प्रभारी मंत्री श्री लखमा ने ग्राम के विभिन्न स्थलों का दौरा कर अधिकारियों को निर्देशित किया। इस दौरान उनके साथ सिहावा विधायक डाॅ. लक्ष्मी ध्रुव, कांग्रेस जिलाध्यक्ष मोहन लालवानी, कृष्ण  मरकाम सरपंच किरण साहू मभी मौजूद थे, श्री लखमा  गौरव ग्राम कण्डेल पहुंचकर सबसे पहले शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर का निरीक्षण किया। यहां पर मैदान में तैयार किए जा रहे टेन्ट, पण्डाल सहित विभिन्न तैयारियों का उन्होंने जायजा लिया, साथ ही इस दरम्यान स्कूल छात्र-छात्राओं से भी बातचीत की। इसके उपरांत वे गांव के मुख्य चैराहे से होते हुए नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी प्रोजेक्ट के तहत निर्माणाधीन गोकुलधाम आदर्श गौठान का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने गौठान समिति से जुड़े स्वसहायता समूह की महिलाओं से चर्चा कर गौठान के विकास, नवाचार तथा गोठान से आय के स्रोतों पर भी संक्षेप में चर्चा की। तदुपरांत उद्यानिकी विभाग द्वारा तैयार की जा रही बाड़ी का भी उन्होंने निरीक्षण किया तथा सभी प्रकार के निर्माण गुणवत्तापूर्वक किए जाने के निर्देश कलेक्टर  रजत बंसल एवं जिला पंचायत के सी.ई.ओ.  विजय दयाराम के. को दिए। इस अवसर पर एस.पी.  बालाजी राव, डीएफओ  अमिताभ बाजपेयी सहित संबंधित विभाग के अधिकारीगण मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की आगामी दो अक्टूबर को 150वीं जयंती देश सहित प्रदेश भर में मनाई जा रही है। अंग्रेजी शासनकाल की दमनकारी नीतियों के विरूद्ध ग्राम कण्डेल के किसानों ने बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव के नेतृत्व में कण्डेल नहर सत्याग्रह का सूत्रपात किया था, जिसके उपरांत राष्ट्रपिता का 21 दिसम्बर 1920 को दौरान धमतरी आगमन हुआ था। इस आंदोलन को चरम तक पहुंचाने तथा राष्ट्र स्तर पर ध्यानाकृष्ट करने में बाबू छोटेलाल सहित पंडित सुंदरलाल शर्मा, नारायण  राव मेघावाले, नत्थूजी जगताप जैसे प्रणेताओं ने फौलादी भूमिका निभाई थी। गांधीजी की 150वीं जयंती को यादगार बनाने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आगामी चार अक्टूबर को आगमन होगा, जहां से वे पैदल मार्च का आगाज करेंगे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने