ब्रजभूमि ने विश्व को मानवता के लिए प्रेरित किया-प्रधानमंत्री


 सिंगल यूज प्लास्टिक से पूरे देश को मुक्त करने का प्रधानमंत्री ने आव्हान किया




प्रमेन्द्र अस्थाना    
मथुरा।   ब्रजभूमि ने हमेशा से ही पूरे देश एवं विश्व को पूरी मानवता को पे्ररित किया है। आपके पास श्रीकृष्ण जैसा प्रेरणा श्रोत हमेशा से ही रहा है। जिनकी कल्पना ही पर्यावरण के बिना अधूरी है। उन्होंने जनता से प्रश्न पूछते हुए कहा कि कालिन्दी, बैजन्ती माला, मयूर पंख, बाॅस की बासूरी, कदम्ब की छांव, हरी भरी घास पर चरती हुई धेनू , इनके बिना कृष्ण की उपस्थिति हो सकती है, क्या दूध, दही और मक्खन के बिना बाल गोपाल की कल्पना हो सकती है। पर्यावरण और पशुधन हमेशा से ही भारत के आर्थिक चिन्तन का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। इसी चिन्तन को आगे बढ़ाते हुए अनेक संकल्प लिये है। यही कारण है कि चाहे स्वच्छता हो, जल जीवन या भारत को आर्थिक विकास से सम्पन्न के लिये नये भारत के निर्माण के लिये हम आगे बढ़ रहे है। इसी चिन्तन को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया है। देश के कोटि-कोटि पशु पालकों के लिये, पर्यावरण के लिये, पर्यटकों के विकास के लिये, ऐसा कार्यक्रम आयोजित करने के लिये ब्रजभूमि से बेहतर कोई स्थान नहीं हो सकता।


 मथुरा के स्ट्रक्चर और पर्यटन से जुड़ी अनेक योजनाओं का जो आज उद्घाटन हुआ है उसके लिये मथुरा वासियों को बहुत-बहुत बधाई। यह विचार देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पं0 दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सालय में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप मंे बोलते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि स्वच्छता ही सेवा है। उन्होंने पशुओं के स्वास्थ्य संबर्धन एवं उद्योग से जुड़ी अनेक योजनाओं का आज शुभारम्भ किया। उन्होंनंे कहा कि हिन्दुस्थान के सभी पशु विज्ञान केन्द्रों पर दूर-दूर के हजारों किसान इस नजारे का अनुभव कर रहे है जो कोटि-कोटि किसान एवं पशुपालक इस कार्यक्रम के माध्यम से ब्रजभूमि और टेक्नोलाॅजी से सीधे जुड़े हुए हंै मैं उनको भी नमन करता हूॅ। उन्होंने कहा कि महात्मा गाॅधी जी के स्वच्छता के प्रति जो अवधारणा थीं उसे हमें अपने जीवन में धारण करना हम सभी भारतीयों का दायित्व हैं।
महात्मा गाॅधी की स्वच्छता से प्रेरणा लेकर उस पर कार्य करना उनके प्रति सच्ची श्रृद्धांजली है। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक से होने वाली समस्या समय के साथ और गम्भीर होती जा रही है। प्लास्टिक पशुओं की मौत का कारण बन रही हंै। उन्होंने नदियों, झीलों की साफ-सफाई के सम्बन्ध में कहा कि प्लास्टिक मछलियों की मौत का भी कारण बन रही हैं। उन्होंने सिंगल यूज प्लास्टिक से भारत को मुक्त करने का आव्हान करते हुए सामाजिक संगठन, युवाओं, महिलाओं आदि से प्लास्टिक मुक्त अभियान में जुड़ने की अपील की। उन्होंने आम जनता से कहा कि प्लास्टिक को इधर उधर न फैलाये उसे एक स्थान पर एकत्रित करें जिसे प्रशासन द्वारा उठा लिया जायेगा। उन्होंने कूड़े से प्लास्टिक बीनने वाली महिलाओं के साथ समय व्यतीत करते हुए उनसे उनके कार्य के सम्बन्ध में जानकारी ली।
प्रधानमंत्री ने उपस्थित सभी लोगों से बाजार से सामान खरीदने जाने से पहले कपड़े या जूट का बैग ले जाने का अनुरोध किया। उन्होंने सरकारी आॅफिस एवं अन्य कार्यक्रमों में पानी की प्लास्टिक बोतल के स्थान पर मिटट्ी के बर्तन उपयोग करने की बात कहीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जी बच्चों के दिमागी बुखार की लड़ाई काफी लम्बे समय से लड़ते रहे हैं। स्वच्छता के कारण दिमागी बुखार से बच्चों की मौत में आयी कमी के लिये मुख्यमंत्री बधाई के पात्र हैं। उन्होंने जल संरक्षण, जीवन संरक्षण पर बल दिया।
 किसान एवं महिलाओं से पशु पालन के माध्यम से अपनी आय को बढ़ाने का भी श्री मोदी ने अनुरोध किया। उन्होंने गाय, भैंस के साथ बकरी, मछली एवं मधुमक्खी पालन पर जोर देते हुए किसानों की आय को बढ़ाने के लिये भी अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि पशुओं के टीकाकरण के लिये केन्द्र सरकार कार्य कर रही है। उन्होंने रमंाडा देश का जिक्र करते हुए कहा कि वहां गायों की बछियों को एक दूसरे को उपहार में दे देते है जिसमें दुग्ध उत्पादन बडे स्तर पर किया जाता है।
अर्थ व्यवस्था में पशुधन को महत्वपूर्ण भूमिका का जिक्र करते हुएप्रधानमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा सौ दिन के अन्दर ही पशुओं का टीकाकरण कराने का महत्वपूर्ण फैसला लिया। उन्होंने पशुओं को मुॅहपका, एफएमडी बीमारी से मुक्त कराने के लिए टीकाकरण अभियाल चलाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पशुधन स्वस्थ रहेगा तो किसान की आय भी बढ़ेगी तथा विश्व में दुग्ध उत्पादन में भारत की अलग छवि बनेगी।
श्री मोदी जी ने बताया कि गोवर्धन, बरसाना, नन्दगाॅव के साथ अनेक क्षेत्रों में पर्यटन के विकास का कार्य किया जा रहा है। मथुरा को पर्यटन से जोड़ने के लिए अनेक कार्य प्रारम्भ किये जा चुके हैं। उ0प्र0 के साथ-साथ पूरे देश का टूरिस्ट मथुरा आ सके। उन्होंने बताया कि आज ही के दिन स्वामी विवेकानन्द जी द्वारा शिकांगो में विश्व शान्ति पर अपने विचार व्यक्त किये थे। उन्होंने कहा कि आज आतंकवाद भारत ही नहीं विश्व की समस्या बन गया है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिये पड़ोसी देश अपनी अहम भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि आतंकवादी अपने संगठन का नाम बदल कर अब नहीं बच सकेंगे। प्रधानमंत्री जी द्वारा भाषण प्रारम्भ करने से पूर्व ब्रजभाषा में उपस्थित जनता का अभिनन्दन किया तथा नये जनादेश के बाद प्रथम बार मथुरा आगमन तथा ब्रज की जनता ने उनमें पुनः अपना विश्वास व्यक्त करने पर उन्हें बधाई दी।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा पुष्प एवं गमछा भेंट कर मा0 प्रधानमंत्री जी का स्वागत किया। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री मत्स्य पालन, पशुपालन व डेयरी गिरिराज सिंह, केन्द्रीय मंत्री जलशक्ति मंत्रालय भारत सरककार गजेन्द्र सिंह शेखावत एवं उ0प्र0 के  मुख्यंमत्री श्री आदित्यनाथ योगी द्वारा जनता को संबोधित किया।
इससे पहले  प्रधानमंत्री जी द्वारा पशु आरोग्य मेला में गौ पूजन किया तथा 15 दिन की बछिया का तिलक कर उसे दुलारा। उन्होंने निरीक्षण के दौरान आॅपरेशन थ्रियेटर, गायों एवं अन्य पशुओं को वैरीकेटिंग के बाहर से देखा।  
 प्रधानमंत्री जी द्वारा प्लास्टिक भीनने वाली महिलाओं के साथ बैठकर वार्ता की तथा स्वयं प्लास्टिक उठाकर दी। उन्होंने अबशिष्ट प्रबंधन के लिए लगाई गई मशीन को स्टार्ट करके उसके कार्य को देखा।  प्रधानमंत्री द्वारा गायों की शल्य चिकित्सा का निरीक्षण किया तथा विभिन्न डाॅक्टरों से पशुओं की बीमारियों से संबंधित जानकारी प्राप्त की। उन्हांेने पशु विज्ञान केन्द्र पर पशुओं को रोग मुक्त करने, गायों के नस्ल बदलने के लिए कृत्रिन गर्भाधान, दुग्ध उत्पादन से जुडे़ स्टाॅल, पशुओं के पोष्टिक आहार, मेले में लगाये अन्य स्टाॅलों का निरीक्षण किया।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने