अंतर्राज्यीय पत्थर चोर गिरोह के 04 सदस्यो को गिरफ्तार करने में पुलिस को मिली सफलता

 

 धमतरी के चार चोरियों में शामिल एक आरोपी भी धरा गया 

भूपेंद्र साहू 
धमतरी ।छत्तीसगढ़ के रायपुर, धमतरी, दुर्ग, बिलासपुर, बलौदाबाजार, रायगढ़, बालोद जिले सहित अन्य राज्यों में 80 से अधिक सूने मकानों में चोरी करने वाले अंतर्राज्यीय पत्थर चोर गिरोह के 04 सदस्यो को गिरफ्तार करने में रायपुर एवं धमतरी पुलिस को सफलता  मिली है ।आरोपियों से चोरी गया लगभग 25 लाख रूपये के सोने, चांदी के जेवरात एवं नगदी  बरामद किया गया।इस बात का खुलासा मंगलवार को आईजी आंनद  छाबड़ा ने रायपुर में की ।इस दौरान रायपुर एसएसपी आरिफ हुसैन,धमतरी एसपी बीपी राजभानु भी मौजूद थे ।
 
प्रमुख बिंदु -
छत्तीसगढ़ के रायपुर, धमतरी, दुर्ग, रायगढ़, बिलासपुर, बलौदाबाजार, बालोद जिले के अलग - अलग थानों में चोरी की लगभग तीन दर्जन से अधिक घटनाओं को दिये थे अंजाम।
रात्रि में ऐसी काॅलोनियों में जिसके पीछे खाली मैदान या खेत हो में देते थे चोरी की घटनाओं को अंजाम।
चोरी करने के 01 दिन पूर्व घुमकर करते थे सूने एवं बंद मकानों की रेकी।
घटना करने के दिन काॅलोनियों के पीछे स्थित खेतों मंे शाम को ही पहुंचकर खेतों में जाकर हो जाते थे छिप।
हाथों में पत्थर पकड़कर चार-पांच की संख्या मंे घुम-घुम कर देते थे घटना को अंजाम।
लगातार रायपुर रेंज के अलग-अलग जिलों में हो रही सूने मकानों में चोरी को देखते हुये पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज ने आरोपियांें को पकड़ने के लिये किया था रायपुर एवं धमतरी जिले की एक संयुक्त विशेष टीम का गठन।
पिछले एक वर्ष से छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों में दे रहे थे लगातार चोरी की घटनाओं को अंजाम।
टीम द्वारा चोरी के घटनास्थलों का निरीक्षण कर आरोपियों की गिरफ्तारी का लगातार  किया जा रहा था प्रयास।
आरोपियों के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होनेे पर रायपुर एवं धमतरी जिले की एक संयुक्त टीम की गई अलीराजपुर (म0प्र0) रवाना।
गिरफ्तार किये गये आरोपी मूलतः है अलीराजपुर जिले के उदयगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम पोहा, पोया, छोटी जामली क्षेत्र के भील जाति के ।
आरोपी करते है मूलतः पहाड़ो में मकान बनाकर निवास।
पुलिस टीम को देखकर पत्थरों एवं तीर धनुष से करते है हमला।
गिरफ्तार आरोपियों में छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों मंे 80 से अधिक चोरी की घटनाओं को करना किया है स्वीकार।
स्थानीय थाना क्षेत्रों में आरोपियों का नहीं है कोई भी क्रिमिनल रिकार्ड क्योकि ये अलग-अलग राज्यों मंे घुुम-घुम कर देते है चोरी की घटनाओं को अंजाम।
दुर्गम क्षेत्रों में घर स्थित होने एवं घर तक पहुंचने का कोई मार्ग न होने से दूर से ही पुलिस टीम को देखकर हो जाते है फरार।
लगातार 05 दिनांे तक अलीराजपुर जिले में आॅपरेशन चला कर किया आरोपियों को गिरफ्तार।
आरोपियों ने गिरफ्तारी के दौरान पुलिस टीम पर पत्थर एवं तीर धनुष से किया था हमला।
आरोपी अपने गांव में करते है मूलतः कपास की खेती का काम जिससे स्थानीय पुलिस एवं लोगो को न हो उन पर किसी भी तरह का संदेह।
आरोपियों ने चोरी के पैसों से अपने गांव में ट्रेक्टर, मोटरसायकल, थे्रसर मशीन, तूफान गाड़ी एवं जमीन है खरीदा।
आरोपियों से चोरी की गई मशरूका सोना कीमती लगभग 22.50 लाख रू0 चांदी कीमती लगभग 2.50 लाख रू0 एवं नगदी 01लाख रू0 जुमला कीमती 25 लाख रू0 किया गया जप्त।
आरोपियों ने म0प्र0 के बालाघाट जिले में 08, रतलाम में 08 बड़वानी में 07 एवं खरगोन जिले में 35 से अधिक चोरियों को दिया है अंजाम।

आरोपियों के विरूद्ध थाना विधानसभा, पण्डरी, मुजगहन, पुरानी बस्ती , टिकरापारा एवं धमतरी जिले में धारा  457, 380 भादवि. के तहत् है अपराध पंजीबद्ध। 
आरोपियों से रायपुर जिले की 18 एवं धमतरी जिले की 04 चोरियो का हुआ  खुलासा।
 आरोपियों से पुलिस टीम पर किये गये हमले में प्रयुक्त तीर कमान एवं मकान चोरी में उपयोग किये गये आलाजरब किये गये है जप्त।
 आरोपियों की गिरफ्तारी में लगी टीम को पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज ने 60 हजार रू0 ईनाम देने की, की है घोषणा।
आरोपियों से इस तरह की अन्य घटनाओं के संबंध में भी की जा रही है विस्तृत पूछताछ।
 धमतरी के चार चोरी में एक आरोपी था शामिल
* दिलीप मेहता के घर 22- 23 की दरम्यानी रात चोरी हुई थी जिसमे नगद 17,000रू एवं चांदी की दो प्लेट 200 ग्राम कीमती 10,000रू एवं एक चांदी की गिलास वजनी 50 ग्राम कीमती 2500रू व 350 ग्राम की छोटा बडा 14 नग चांदी का सिक्का कीमती 17,500रू व एक जेंटस हाथ घडी जिसमे गोल्डन पटटा सफेद राउंड डायल वाली कीमती 6000रू जुमला 53,000 रूपये शामिल है ।
* वेंकटसच्चा प्रसाद राव बोनागिरी के घर भी  22- 23 की दरम्यानी रात सोने की अंगुठी 9 ग्राम कीमती 25,000रू तथा कान में पहनने वाला रिंग 2 नग वजनी 5 ग्राम कीमती 10,000रू जुमला 35,000रू का सामान किसी अज्ञात चोर द्वारा घर का कुंदा तोडकर घर अंदर प्रवेश कर चोरी कर ले गयाथा ।
* मोन्टी पाहूजा के घर  22- 23 की दरम्यानी रात आलमारी के लाकर में रखे 500-500 रूपये के नब्बे नोट कुल 45 हजार रूपये नगदी, चांदी की गाय कीमती 800 रूपये, चांदी का 03 नग सिक्का कीमती 1600 रूपये,  जुमला कीमती 47 हजार 400 रूपये की चोरी हुई थी ।
* सत्यभामा साहू  पति  आनंद प्रसाद साहू इंद्रप्रस्थ कॉलोनी के घर16 -17की दरम्यानी रात अलमारी के लाकर व अन्य समान को चेक किया तो रखे चांदी के पायल 3 तोला कीमती 1000रू , सोने का मंगल सुत्र 6 ग्राम कीमती लगभग 15000रू, नगदी रकम दस-दस रूपये का 1000 की गडडी तथा पर्स में रखे लगभग 5000रू के चिल्हयर 500,100,50रू  के नोट  कुल कीमती 22,000 रूपये की चोरी हुई थी ।जिस पर थाना धमतरी में अपराध क्रमांक 503/19 धारा 457, 380 भादवि पंजीबद्ध किया गया है।
कैसे देते थे वारदात को अंजाम
आईजी ने बताया कि वे ट्रेन के माध्यम से संबंधित जिलों में जाकर ऐसे काॅलोनियों की पहचान करते है जिसके पीछे खेत या खाली मैदान स्थित हो एवं घटना करने वाले दिन शाम के समय से ही काॅलोनियों के पीछे स्थित खेतों में जाकर सो जाते है। एवं रात्रि 01 बजे के बाद हाथांे में पत्थर एवं आलाजरब लेकर काॅलोनियों में पीछे के रास्तों से प्रवेश करते है। एवं सूने मकानों में घुस कर चोरी कर पीछे के रास्ते से ही अलग-अलग फरार होकर ट्रेन के माध्यम से वापस अपने घर चले जाते है। चोरी के दौरान वे हाॅफ पैंट एवं बनियान पहने रहते है एवं अपने कपड़े खेतों में छोड़ देते  है भागते समय पुनः कपड़े पहनकर ग्रुप के सभी सदस्य अलग-अलग रास्तों से रवाना होकर अपने गांव चले जाते है। गिरोह के सभी सदस्य मूलतः भील जाति के है एवं एक ही परिवार के एवं आपस में रिश्तेदार है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि अबतक उन्होने छत्तीसगढ़ के रायपुर, धमतरी, दुर्ग, बलौदाबाजार, बिलासपुर, रायगढ़ सहित अन्य राज्यों में 80 से अधिक चोरी की घटनाओं को अंजाम दे चुके है। स्थानीय पुलिस से जानकारी लेने पर पता चला कि उपरोक्त आरोपियों का स्थानीय थानों में कोई भी क्रिमिनल रिकार्ड नहीं है। इनके द्वारा राज्य के अन्य जिलो एवं अन्य राज्यों में चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया जाता है एवं उपरोक्त अलीराजपुर जिले का चोर गिरोह पहली बार पकड़ाया है। आरोपियों ने मध्यप्रदेश के रतलाम बालाघाट बड़वानी खरगोन जिलो में 60 से अधिक चोरी करना स्वीकार किया है। आरोपियों ने बताया कि चोरी के पैसों से इनके द्वारा अपने घरो में ट्रेक्टर, थे्रसर मशीन, तूफान चार पहिया वाहन एवं जमीने खरीदी गई है।  
 
गिरफ्तार आरोपीः-
01. राजमल पिता शेखू उम्र 28 वर्ष निवासी तड़वी ग्राम पोहा थाना उदयगढ़ जिला अलीराजपुर म0प्र0
02. भरत भूरिया पिता शेखू उम्र 24 वर्ष निवासी केदार फलिया ग्राम छोटी जामली थाना उदयगढ़ जिला
      अलीराजपुर म0प्र0
03 . वेलसिंह पिता झैतू उम्र 28 वर्ष निवासी थांदला थाना उदयगढ़ जिला अलीराजपुर म0प्र0
04 . हतरिया पिता हिरजी उम्र 34 वर्ष निवासी ग्राम छड़ावल थाना तांडा जिला धार म0प्र0 ( धमतरी के वारदात में शामिल था )
आरोपियों की गिरफ्तारी में जिला रायपुर से नगर पुलिस अधीक्षक उरला अभिषेक माहेश्वरी, निरीक्षक अश्वनी राठौर, सोनल ग्वाला प्रधान आरक्षक संदीप दीक्षित, राधाकंात पाण्डेय, आरक्षक विजय पटेल, राजिक खान, प्रमोद बेहरा, वीरन्द्र भार्गव, राकेश पाण्डेय, विक्रम वर्मा, सुरेश देशमुख,  जिला धमतरी से निरीक्षक उमेन्द्र कुमार टण्डन, प्रधान आरक्षक प्रदीप सिंह, प्रहलाद बंछोर आरक्षक कुलदीप सिंह, कमल जोशी, दीपक साहू, मुकेश मिश्रा का महत्वपूर्ण योगदान रहा।


धमतरी पहुंचने पर पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु ने संक्षिप्त प्रेस वार्ता में बताया कि धमतरी में जो चोरी हुई थी उसमें से दो महत्वपूर्ण चोरियां डॉ इकबाल परवेज और सुरेंद्र मेहता वाले मामले में अभी आरोपी फरार हैं जो जल्द ही पुलिस के शिकंजे में होंगे। बाकी अन्य में जो चार आरोपी गिरफ्तार हुए हैं उसमें से एक धमतरी के गैंग में शामिल था ।इसमें महत्वपूर्ण भूमिका धमतरी पुलिस की रही थी सभी इनपुट यही से जुटाए गए थे। रायपुर पुलिस के साथ संयुक्त टीम ने उस इलाके में पहुंचकर अपनी जान जोखिम में डालकर आरोपियों को धर दबोचा ।बाकी फरार हो गए हैं। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर भी मौजूद थी।
 
 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने