VDO:नगरी मड़ाई में देवी-देवताओं का रहा जमघट, माता शीतला से आर्शीवाद लेकर अपनी परंपराओं का किया निर्वहन



मौसम की बेरुखी के चलते मेला में रौनक रही कम, व्यापारी हुए परेशान

नगरी ।शनिवार को नगर व्यवस्था समिति एवं नगर वासियों के सहयोग से शीतला मंदिर प्रांगण में दो दिवसीय मेला-मड़ाई का आयोजन किया गया है। जिसमें प्रथम दिवस नगरी, मोदे, छिपली, संबलपुर सहित आसपास के क्षेत्र से देवी-देवताओं का आगमन हुआ। क्षेत्र में मौसम के बेरुखी के चलते मेले में लोगो की भीड़ कम नजर आयी, व्यापारियों के व्यवसाय में भी इसका असर दिखाई दिया जिसके कारण दुकानदारों के चेहरे में भी मायूसी छाई रही।

नगर में दो दिन का मेला लगा है जिसमे इस बार मनोरंजन के लिए आकाश झूला, ब्रेकडान्स, ड्रैगन जैसे झूले लगे थे वही बच्चों के लिए वाटर बोट, कुरसी झूला, जम्पिंग स्टैंड, मिक्की माउस गद्दा लगा था, जिसका लोगों ने खूब मजा लिया। मेले में नगर की उभरती बाल कलाकार आरु साहू भी, वाटर बोट का मजा लेते दिखाई दी।
मौसम की बेरुखी सुबह से ही नजर आ रही थी नमी के चलते काफी ठंड का अहसास हो रहा था और दोपहर में छीटे भी पड़े थे। लोग मेला देखने देर से पहुचे, इसलिए मेले के व्यापार का स्तर कम रहा, वही देवी-देवताओ का आगमन भी विलंम्ब से हुआ, इनके दर्शन के लिए इस बार लोगों को थोड़ा इंतजार भी करना पड़ा। 
क्षेत्र से आये सभी देवी-देवता इकठ्ठे होकर शीतला मंदिर प्रांगण में पहुचे जहा पर नगर व्यवस्था समिति के सदस्य, पांच झाँकर, वरिष्टजनों के द्वारा इनका पैर पखारा गया, पूजा-अर्चना के बाद मंदिर प्रांगण में देवी-देवता ने अपने कलाओं का प्रदर्शन किया, बारी-बारी माता शीतला के दर्शन पश्चात अपने रस्मों को पूरा किया। जिसे देखने आसपास के क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग पहुचे थे, जिन्होंने इनका दर्शनलाभ लेकर आशीर्वाद प्राप्त किया।
मीना बाजार के संचालक बाबूभाई चारामा, इलेक्ट्रॉनिक समानों के विक्रेता भूपेंद्र साहू, पान ठेला व्यवसायी राजेन्द्र साहू भोथली, कीटनाशक विक्रेता एमेन्द्र साहू खम्हरिया, जूता-चप्पल दुकानदार कादर भाई नगरी से मार्केट के बारे में चर्चा करने पर एक ही स्वर में कहा कि मौसम की बेरुखी के चलते इस बार धंधा नीरस रहा।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने