अवैध शराब, गुटखा सेवन और जुआबाजी पर नकेल कसने के प्रभारी मंत्री ने दिए सख्त निर्देश

 

ऐसे सभी किसान, जिनके टोकन कटे हैं, उनसे धान खरीदी हर हाल में सुनिश्चित् की जाए: लखमा


धमतरी।प्रदेश के वाणिज्य एवं उद्योग, वाणिज्यिक कर (आबकारी) मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने  जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेते हुए स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जिले में अवैध शराब की बिक्री, गुटखा एवं जुआबाजी किसी भी सूरत में ना हो, इसके लिए पूरी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जिला पंचायत सभाकक्ष में आहूत बैठक में मंत्री श्री लखमा ने कहा कि प्रदेश सरकार की मंशा अनुरूप नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी के कार्यों को पूरी प्राथमिकता से किया जाए, जिससे ग्रामीणों को लाभ हो। इसके अलावा उन्होंने जिले को कुपोषण मुक्ति की दिशा में आगे बढ़ाने के लिए सभी का आह्वान किया, कि वे सहयोग करें। प्रभारी मंत्री ने कहा कि बच्चों में कुपोषण मिटाने की मुहिम महज़ सरकार की पहल और प्रशासनिक प्रयासों से सफल नहीं होगी, बल्कि इसमें जिले के सभी लोगों को आगे आकर सहयोग करना होगा। जनजागरूकता, बच्चों की उचित देखभाल, खान-पान, स्वास्थ्य यह सब बच्चों को सुपोषित करने के लिए जरूरी है।


समीक्षा बैठक में प्रभारी मंत्री ने कार्यपालन अभियंता, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क अभिकरण को निर्देशित किया है कि वे एक सप्ताह के भीतर हंकारा से सेमरा डी. सड़क के गड्ढों की मरम्मत करा लें। इस मौके पर कार्यपालन अभियंता ने बताया कि रूद्री से छाती सड़क निर्माण कार्य में डामरीकरण शुरू हो गया है तथा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तीसरे चरण में 13 नए काम लिए गए हैं। प्रभारी मंत्री ने सभी निर्माण कार्यों में गुणवत्ता बनाए रखने पर जोर दिया। जिले में चालू खरीफ विपणन वर्ष में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की समीक्षा के दौरान खाद्य अधिकारी ने मौके पर बताया कि जिले के 53 समितियों के 85 खरीदी केन्द्रों में इस साल 1,05,496 पंजीकृत किसानों के विरूद्ध 1,02,000 किसानों से कुल 41 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी अब तक की गई है। प्रभारी मंत्री ने साफ तौर पर निर्देश दिए कि ऐसे सभी किसान, जिनके टोकन कटे हैं, उनसे धान खरीदी हर हाल में सुनिश्चित् की जाए। बैठक में बारदानों की उपलब्धता के विषय में भी जानकारी ली गई। बताया गया कि समितियों में पर्याप्त मात्रा में बारदाने उपलब्ध हैं।
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा के दौरान कार्यपालन अभियंता ने बताया कि जिले में कुल 9829 हेण्डपम्प स्थापित हैं, जिनमें से सामान्य कारणों की वजह से 48 बंद तथा शेष सभी 9781 हेण्डपम्प कार्यरत हैं। इसी तरह नलजल योजना के तहत स्वीकृत 234 में से 200 कार्य पूर्ण, 27 प्रगतिरत तथा बकली, ईर्रा, कोकड़ी (नारी) के तीन कार्य आंशिक रूप से पूर्ण हैं। जिले में फिलहाल 203 नलजल योजनाएं कार्यरत हैं। इसी तरह स्पाॅट सोर्स के सभी स्वीकृत 135 कार्य चालू हालत में हैं। मौके पर प्रभारी मंत्री ने ग्रीष्मकाल में पेयजल की समस्या किसी भी क्षेत्र में ना आए, इसकी व्यवस्था सुनिश्चित् करने के निर्देश दिए। बैठक में शहर की सुरक्षा के लिए सी.सी.टी.वी. लगाने के लिए प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश प्रभारी मंत्री ने दिए। उन्होंने इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग, जल संसाधन, वन विभाग इत्यादि के कार्यों की भी समीक्षा की। बैठक में विधायक सिहावा डाॅ.लक्ष्मी ध्रुव, विधायक धमतरी श्रंजना साहू, कुरूद विधायक  अजय चन्द्राकर के प्रतिनिधि  प्रवीण चन्द्राकर, जिला पंचायत अध्यक्ष  कांति सोनवानी, उपाध्यक्ष निशु चन्द्राकर, महापौर विजय देवांगन , पूर्व धमतरी विधायक  गुरूमुख सिंह होरा,  मोहन लालवानी, कलेक्टर  रजत बंसल, पुलिस अधीक्षक बी.पी.राजभानू, वनमण्डलाधिकारी  अमिताभ बाजपेयी सहित विभिन्न विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।                                   

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने