विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी और स. वि. शिक्षा अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए  दिए निर्देशों की  अवहेलना 

दायित्वों के निर्वहन करने में लापरवाही बरतने पर जिला शिक्षा अधिकारी ने  किया  नोटिस जारी



धमतरी। नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जिले के सभी शैक्षणिक संस्थाओं को बंद किया गया है। शासन के निर्देश अनुसार मध्याह्न भोजन योजना का सूखा खाद्यान्न बच्चो के घर तक पहुंचाकर दिया जाना है, किन्तु आज सुबह 7.30 बजे स्थानीय मेनोनाईट हिन्दी स्कूल के प्रधानपाठक द्वारा बच्चों एवं पालकों को स्कूल में बुलाकर खाद्यान्न का वितरण किया जा रहा था। इसकी वजह से अनावश्यक भीड़ की स्थिति वहां निर्मित हो गई। ड्यूटी पर उपस्थित पुलिस द्वारा वस्तुस्थिति की जानकारी दिए जाने पर तत्काल जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा उक्त स्कूल का निरीक्षण कर विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी धमतरी  डी.आर.गजेन्द्र के मोबाईल पर सम्पर्क किया गया, किन्तु निर्देश की अवहेलना करते हुए वे स्कूल में उपस्थित नहीं हुए। इसी तरह सहायक विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी  संजीव कश्यप को मध्याह्न भोजन योजना के सूखे खाद्यान्न वितरण के समय निरीक्षण करने का दायित्व सौंपा गया था, किन्तु वे सुबह 10.15 बजे तक स्कूल में उपस्थित नहीं हुए। उच्चाधिकारी के निर्देशों की अवहेलना करने और छत्तीसगढ़ (सिविल सेवा) आचरण नियम 1965 के विपरीत कार्य कर पदीय दायित्वों के निर्वहन करने में लापरवाही बरतने की वजह से जिला शिक्षा अधिकारी ने उक्त दोनों अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने