क्लोरीन टेबलेट मामला:एजेंसी को ब्लैक लिस्ट कर एफआईआर का निर्णय, अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी



भूपेंद्र साहू
धमतरी।नगर निगम धमतरी में गुणवत्ता विहीन क्लोरीन टेबलेट की आपूर्ति किए जाने के संबंध में नगर निगम आयुक्त आशीष टिकरिहा ने बड़ा निर्णय लिया है। सप्लाई करने वाली फर्म गोविंद मेडिकल एजेंसी को ब्लैक लिस्ट करते हुए उसके विरुद्ध एफ आई आर दर्ज करने का निर्णय लिया गया है ।साथ ही संबंधित अधिकारियों को नोटिस भी जारी किया गया है।

 आयुक्त द्वारा जारी प्रेस नोट में बताया गया है कि गोविंद मेडिकल एजेंसी द्वारा नगर निगम को क्लोरीन टेबलेट प्रदान किया गया है ।गुणवत्ता विहीन के संबंध में शिकायत प्राप्त होने पर महापौर के निर्देशानुसार जांच कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया गया था। एसआर सिन्हा सहायक अभियंता द्वारा जांच की कार्यवाही पूरी कर ली गई है। प्रथम दृष्टया में क्लोरीन टेबलेट गुणवत्ता विहीन प्रतीत हुआ है ।साथ ही पीएचई विभाग द्वारा टेबलेट का सैंपल फेल पाया गया। इस संबंध में गोविंद मेडिकल एजेंसी को 24 घंटे के भीतर लिखित पक्ष प्रस्तुत करने नोटिस जारी की गई है।

एफ आई आर करने लिखा पत्र 

आयुक्त नगर निगम धमतरी ने थाना प्रभारी सिटी कोतवाली को पत्र लिखते हुए कहा है कि गोविंद मेडिकल एजेंसी धमतरी को क्लोरीन टेबलेट 423 भाग लागत राशि ₹49914 का प्रदाय करने हेतु कार्य आदेश जारी किया गया था। एजेंसी द्वारा प्रदान किए गए क्लोरीन टेबलेट की गुणवत्ता स्तरहीन पाया गया ।स्वास्थ्य से जुड़े होने के कारण दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है ।इस वजह से अपराध दर्ज किया जाए।
 इस संबंध में थाना सिटी कोतवाली प्रभारी भावेश गौतम ने कहा है कि आयुक्त का पत्र प्राप्त हुआ है आगे की कार्यवाही की जा रही है।

 कारण बताओ नोटिस जारी 

नगर निगम आयुक्त द्वारा नॉट फॉर सेल ओनली गवर्नमेंट सप्लाई के 423 प्लास्टिक डिब्बा में क्लोरीन टेबलेट सप्लाई मामले में सहायक अभियंता अधिकारी रवि सिन्हा, जल प्रभारी उप अभियंता कामता प्रसाद नागेंद्र, और सहायक राजस्व निरीक्षक स्टोरकीपर बलवंत राव शिंदे को कारण बताओ नोटिस जारी किया है ।कहा गया है कि दायित्वों का समुचित रूप से निर्वहन ना करते हुए निर्धारित मानक से अत्यंत कमतर एवं गुणवत्ताहीन क्लोरीन टेबलेट को स्वीकार कर आम नागरिक को वितरण हेतु उपलब्ध कराया गया है ।24 घंटे के भीतर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें क्यों ना उपरोक्त कृत्य के लिए आपके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किया जाए ।समय सीमा के अंदर जवाब नहीं मिलने पर एक पक्षीय कार्रवाई की बात कही गई है ।

गुणवत्ता विहीन क्लोरीन टेबलेट सप्लाई के मामले में सप्लाई एजेंसी को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है उसके विरुद्ध एफआइआर के लिए थाना सिटी प्रभारी को पत्र लिखा गया है। संबंधित अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है ।
आशीष टिकरिहा
 नगर निगम आयुक्त धमतरी
 
नहीं मिला है कोई नोटिस
इस पूरे मामले में सप्लायर फर्म गोविंद मेडिकल एजेंसी के संचालक गोविंद गांधी ने एमटीआई न्यूज़ को बताया कि जिस वक्त उन्होंने नगर निगम को क्लोरीन टेबलेट दिया था उस समय स्थिति अच्छी थी ।क्योंकि यह टेबलेट हवा और पानी में जल्दी खराब हो जाता है ,हो सकता है कि उन्होंने रखरखाव में कमी की होगी ।गवर्नमेंट सप्लाई नॉट फॉर सेल मामले में उन्होंने कहा कि यह इसलिए लिखा जाता है ताकि मितानिन जो बांटते हैं वह किसी को ना बेच सकें ।नोटिस मिलने के संबंध में उन्होंने कहा कि नगर निगम के द्वारा अभी तक उन्हें किसी प्रकार का नोटिस प्राप्त नहीं हुआ है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने