प्रदेश में शराबबंदी के मामले में कांग्रेस भाजपा आमने-सामने



प्रेस वार्ता लेकर दोनों पार्टियों ने रखी अपनी बात 


भूपेंद्र साहू 
धमतरी।छत्तीसगढ़ में शराबबंदी के मामले को लेकर बुधवार को कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों ने प्रेस वार्ता लेकर अपनी अपनी बातें रखी ।
पहले सुबह भाजपा कार्यालय में प्रदेश के पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पत्रकारों से चर्चा की ।उन्होंने कहा कि विश्व  जिस परिस्थितियों से गुजर रहा है ऐसे समय में छत्तीसगढ़ को खतरे में डालने के लिए सरकार ने शराब बेचना शुरू कर दिया है। लगता है सरकार की अर्थव्यवस्था शराब पर टिकी है ।लॉक डाउन में शराब बंदी के लिए अच्छा मौका था ,लेकिन अब यह सरकार घर-घर जाकर शराब की सप्लाई करने लगी है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता ने शराबबंदी को लेकर सरकार बनाई थी ।सरकार अब शराबबंदी के बजाय घरों में पहुंचा रही है।  छत्तीसगढ़ की जनता को सरकार से ऐसी अपेक्षा नहीं थी ।उन्होंने यह भी कहा कि शराब बिक्री के मामले में भी हर राज्यों की अलग-अलग स्थिति है ।इस दौरान विधायक रंजना साहू, जिला अध्यक्ष शशि पवार, पूर्व जिलाध्यक्ष रामु रोहरा,शिवदत्त उपाध्याय,विजय साहू कविंद्र जैन आदि मौजूद थे।

 इसके बाद शाम को कांग्रेस जिला अध्यक्ष शरद लोहाना ने फॉरेस्ट रेस्ट हाउस में प्रेस वार्ता रखकर लॉक डाउन के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख किया ।जिसमें राशन सामग्री वितरण, मनरेगा कार्य, श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण, बाहर फंसे लोगों को भोजन उपलब्ध कराना, वनोपज संग्रहण, कोटा में फंसे विद्यार्थियों को वापस लाना, ऑनलाइन पढ़ाई ,फसल बीमा योजना का लाभ आदि शामिल है।शराबबंदी के मुद्दे पर उन्होंने प्रेस नोट जारी करते हुए देश और प्रदेश की स्थितियों का अवगत कराया ।प्रेस नोट में यह भी उल्लेख किया गया है कि किस प्रकार से पूर्व की भाजपा सरकार ने शराबबंदी का वादा किया था लेकिन वह असफल रही थी ।इसके अलावा बिहार में शराबबंदी पर जो अपराध हो रहे हैं और वहां की जमीनी हकीकत का भी उल्लेख किया है। प्रेस नोट में भाजपा सरकार पर कड़ा प्रहार किया गया है। अभी लॉक डाउन की स्थिति में बताया गया कि भारत सरकार के ही दिशा निर्देश पर दुकानों को बंद किया गया था और उनके ही निर्देश पर अभी खोला गया है। इस दौरान राज्य में 200 से ज्यादा प्रकरण कायम किया गया है ।इस दौरान नगर निगम महापौर विजय देवांगन, पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष निशू चंद्राकर, पंकज महावर, आलोक जाधव,हरमिंदर छाबड़ा मौजूद थे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने