हंगामाखेज रही नपं नगरी की पहली बैठक,बिना बजट कार्याे के प्रस्ताव पर बिफरी विधायक



अधिक दर, घटिया काम के कारण टेंडर निरस्त सवालों पर अफसरों ने दिए गोलमोल जवाब


आरती गुप्ता 
नगरी। नगर पंचायत नगरी की सामान्य सभा की बैठक 26 जून को नगर पंचायत सभागार में हुई,जिसमे विधायक लक्ष्मी ध्रुव की उपस्थिति  में  बिना बजट निर्माण कार्याे का प्रस्ताव बैठक में लाने और निर्माण कार्य शुरू कर दिए जाने पर आश्चर्य जताया उन्होंने कहा कि नगर पंचायत के गठन के 6 माह पूरे होने के बाद भी आज तक बजट नहीं बन पाया है। बैठक में हाई स्कूल मैदान समतलीकरण, पैठु तालाब समतलीकरण,  वार्ड क्रमांक 1 में स्टेडियम जीर्णाेद्धार, वार्ड क्रमांक 12 में उचित मूल्य की दुकान का निर्माण पार्षद निधि से कराने का प्रस्ताव रखा गया नवनिर्मित मटन मार्केट और इसके स्थान को लेकर पार्षदों ने सवालों की झड़ी लगा दी पर अधिकारी गोलमोल जवाब देकर सवालों को टालते रहे हाईस्कूल के नाली निर्माण को लेकर भी सवाल उठा हाईस्कूल मैदान समतलीकरण के पहले पुरानी नाली को पाट दिया गया था इसके बाद फिर से नाली निर्माण का आदेश जारी कर दिया गया पार्षदों ने कहा कि छह लाख रूपए की लागत से बनने वाली इस नाली के लिए टेंडर नहीं हुआ है और न ही किसी को वर्क आर्डर दिया गया है जवाब में अधिकारी ने कहा कि लोगों की मांग पर नाली का निर्माण कराया जा रहा है पूर्व में आमंत्रित कुछ कार्याे के टेंडर की दर अधिक होने की वजह से पार्षदों ने इन्हें निरस्त कर दिया था  वहीं घटिया कार्य की शिकायत पर जोनल टेंडर को भी निरस्त करने की अनुशंसा बैठक में की गई बैठक में संासद प्रतिनिधि विकास बोहरा, नगर पंचायत अध्यक्ष आराधना शुक्ला, उपाध्यक्ष अजय नाहटा समेत सभी पार्षद और सीएमओ डीएल बर्मन, इंजीनियर झनकलाल उईके आदि मौजूद थे।

सन्नी छाजेड़
नगर पंचायत नगरी में मुक्तिधाम निर्माण, मुक्ति धाम पर बने टीना सेड, स्वच्छ भारत मिशन के नाम पर लाखों रुपये के फर्जी बिल, जैम पोर्टल के माध्यम से क्रय की गई सामग्री, कोरोना राशन, अध्यक्ष के कमरे में लगे ऐसी के मामले में नगर के समाजसेवी संस्था के अध्यक्ष सन्नी छाजेड़ ने कहा है कि नगर पंचायत में हो रही भ्रस्टाचार चरम पर है कई बार मुख्यमंत्री सहित अन्य उच्च अधिकारियो से लगातार पत्राचार करने के बाद भी कार्रवाही नही होने का नतीजा अब सामने आने लगा है नगर पंचायत के मातहतों के हौसले इतने बुलंद होने लगे है कि बिना टेंडर, बैठक और पार्षदों के जानकारी के बिना मनमर्जी से कार्यो को अंजाम दे रहे है। जो कि चिंता का विषय है श्री छाजेड़ ने कहा है कि इन मामलों पर भी जांच की जाए।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने