पुलिसकर्मी ने अब अगर किसी से मारपीट की तो माना जाएगा अपराध


सीधे होंगे सस्पेंड, एफआईआर भी होगी, आदेश जारी


रायपुर 09 जून 2020। उरला TI नितिन उपाध्याय  की घटना के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस की पूरे देश  में किरकिरी हुई है। खुलेआम सड़क पर जिस तरह के थानेदार ने महिलाओं-बच्चों और आमलोगों पर लाठियां बरसायी, उसने ना सिर्फ पुलिस की बदनामी हुई बल्कि खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को आकर इस मामले पर बयान देना पड़ा। अब इस मामले में डीजीपी डी.एम.अवस्थी का कड़ा रूख सामने आया है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने सभी आईजी और एसपी को निर्देश दिया है कि वो पुलिस अधिकारी व कर्मचारी को कड़े कंट्रोल में रखे।डीजीपी ने कहा है कि अगर कोई भी पुलिसकर्मी व अधिकारी किसी आमजन से दुर्व्यवहार करता है या मारपीट करता है तो उसे ना सिर्फ तत्काल सस्पेंड किया जायेगा, बल्कि FIR दर्ज किया जायेगा। डीएम अवस्थी ने कहा है कि इस प्रकार के मामलों के कारण पुलिस विभाग में लंबे समय से मेहनत कर रहे ईमानदार और अनुशासित पुलिस कर्मियों की सारी मेहनत पर पानी फिर जाता है और पुलिस की नकारात्मक छवि जनमानस के सामने आती है।

डीजीपी अवस्थी ने इस बाबत पत्र जारी कर साफ नसीहत दी है कि पहले भी इस बात का निर्देश पुलिसकर्मियों को दिया गया था कि वो आमलोगों के साथ सम्मान व सहानुभूतिपूर्वक व्यवहार करें, लेकिन हाल में कुछ घटनाएं ऐसी आयी है, जिसमें पुलिसकर्मी आमलोगों के साथ दुर्व्यवहार करते व मारपीट करते देखे गये हैं, जिससे पुलिस की छवि खराब हुई है।डीजीपी ने सभी आईजी और एसपी को आदेश दिया है कि हाल में घटित इस प्रकार के प्रकरणों पर विभागीय जांच बैठाकर तत्काल कड़ी कार्रवाई करें।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने