युवा नेता आनंद पवार व नीलम चन्द्राकर की घर वापसी से कांग्रेस होगी मजबूत!





धमतरी16.06.2020।प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष माननीय मोहन मरकाम  के अनुशांसा पर धमतरी एवं कुरूद विधानसभा के दो प्रमुख युवा नेता आनंद पवार, एवं नीलम चन्द्राकर के साथ रामदत्त शुक्ला, प्रभातराव मेघावाले, रजत चन्द्राकर, विजेन्द्र साहू, मोहन साहू, महिम शुक्ला, योगेश साहू, नेहरू साहू व अनेक कार्याकर्ताओंको  कांग्रेस प्रवेश जिला कांग्रेस कार्यालय धमतरी में जिला अध्यक्ष शरद लोहाना, पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी, महपौर विजय देवांगन के द्वारा गमछा पहनाकर कांग्रेस प्रवेश कराया गया।
आनंद पवार और नीलम चन्द्राकर ने पार्टी प्रवेश के बाद बताया की वे कांग्रेस पार्टी के रीति-नीति एव मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के  शासनकाल दौरान किसानों, गरीबो, मजूदरों एवं सभी तबकों के लिए संचालित कार्य योजनाओं से प्रभावति होकर हम कांग्रेस पार्टी में प्रेवश कर रहे है ताकि हम पार्टी को और मजबूत करने में अपनी अहम योगदान दे सके।जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शरद लोहाना ने कहा की जिले के दो युवा नेता आनंद पवार, नीलम चन्द्राकर, प्रभातराव मेघावाले व अन्य साथियों के द्वारा तत्कालिक परिस्थितियों के कारण कांग्रेस से दुरी बना लिये थे लेकिन उनका भरोसा कांग्रेस जैसी मजबूत व विशाल पार्टी पर ही बना रहा तथा इन सभी ने अपने भूल स्वीकार करेते हुए कांग्रेस की मुख्यधारा में लौट आने का निश्चिय किया जिसका आज हम कांग्रेस प्रवेश कर उनका स्वागत करते है। इनके प्रवेश से निश्चित ही जिले मे संगठन मजबूत होगी, जिससे अगामी विधानसभा की तीनों सीटों पर कांग्रेस कब्जा करेगी और लोकसभा सहित अन्य सभी चुनाव में कांग्रेस विजय हासिल करेगी। पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी एवं महापौर विजय देवांगन ने कांग्रेस पव्रेश पर खुशी व्यक्त की एवं संगठन को मजबूती प्रदान करने हेतु बधाई दी।

ज्ञात हो कि 2018 विधानसभा चुनाव में धमतरी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की ओर से आनंद पवार ने दावेदारी की थी। टिकट नहीं मिलने की स्थिति में उन्होंने बागी चुनाव लड़ते हुए 30000 वोट हासिल किए थे। धमतरी विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस की हार हुई थी ।इसके बाद आनंद पवार और उनके समर्थकों को कांग्रेस से निलंबित कर दिया गया था ।हालांकि कुछ दिनों बाद समर्थकों को वापस भी ले लिया गया था ।इसी तरह कुरूद विधानसभा क्षेत्र से नीलम चंद्राकर बागी होकर चुनाव लड़े थे। क्षेत्र की जनता में इतना धाक जमाया कि उन्होंने 60000 वोट प्राप्त किया था। दोनों की विधानसभा क्षेत्रों में छवि को देखते हुए वापस लेने का निर्णय लिया गया।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने