हाथियों का ऐसा खौफ कि दुध मुहे बच्चो लेकर घर के छतो के उपर छावनी बनाकर रतजगा कर रहे है ग्रामीण



तीन दिन के भीतर ग्राम छिन्दौला में दो बार हाथियों के दल ने मचाया जमकर उत्पात


वन विभाग अब तक हाथियों से ग्रामीणों के बचाव के लिए ठोस रणनिति नही बना पाई है


गरियाबंद /मैनपुर।तहसील मुख्यालय मैनपुर से महज 14 किलोमीटर दुर वन परिक्षेत्र मैनपुर अंतर्गत ग्राम छिन्दौला मेंकुछ दिनों पूर्व हाथियों के दल ने अचानक धावा बोल दिया था और गांव के आधा दर्जन से ज्यादा मकानों तथा फसलों को जमकर तोडफोड किया था साथ ही किसानों के धान के फसलों को बुरी तरह से रौंद डाला था तब ग्रामीण जान बचाने के लिए रात भर अपने छोटे छोटे बच्चों को लेकर कोई छत के उपर तो कोई पेंडो के उपर चढ गए थे। वन विभाग के टीम लगातार हाथियों पर नजर रखने का दावा कर रहे है, लेकिन रविवार की रात एक बार फिर हाथियों के दल ग्राम छिन्दौला में धावा बोल दिया अचानक हाथियों के तीन दिन के भीतर दुसरे बार रात में धावा बोलने से ग्रामीण संचेत हो चुके थे और सभी ग्रामीण छतों के उपर चढ गए । ग्रामीणों ने मशाल जलाकर और नंगाडे बजाकर जोर जोर से चिल्लाया लगभग एक घंटे तक हाथियों के दल ग्राम छिन्दौला में मंडाराता रहा ।डर से प्रधानमंत्री आवास के घरो के क्षतों के उपर रात भर भारी बारिश के बीच अपने छोटे छोटे बच्चों को लेकर रतजगा करते रहे । अब तक हाथियों से ग्रामीणों को बचाने के लिए वन विभाग ने कोई ठोस रणनिति नही बनाई है जिसके चलते ग्रामीणो में अपने छोटे छोटे बच्चो की सुरक्षा को लेकर भारी दहशत खौफ और डर देखा जा रहा है।

हाथियों का एैसा खौफ की घरो के छतो पर त्रिपाल की छावनी बनाकर रहने मजबूर

इनके पास न तो बिजली की सुविधा है और न ही टार्च व बुनियादी सुविधाए नसीब हो पा रही है , ज्ञात हो कि इस गांव में अब तक बिजली नही लग पाई है, और सौर उर्जा लगाया गया है लेकिन यह सौर उर्जा नाममात्र ही जलता है कुछ घंटे जलने के बाद पुरा रातभर गांव में अंधेरा पसरा रहता है, गांव वालो ने कई बार वन विभाग से हाथियों से बचाव के लिए ठोस कार्ययोजना बनाने  के साथ उन्हे हाई मास्क टार्च व लाईट की सुविधा देने की मांग की है, जिससे हाथियों के अचानक गांव में पहुच जाने से अपना बचाव कर सके।

छिन्दौला ग्राम के आसपास ही मंडरा रहा है हाथियों का दल

ग्रामीण सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सात हाथियों के दल में दो शावक भी शामिल है और यह हाथियों का दल दबनई, छिन्दौला, लूठापारा, बोडापाला, लेडीबहार, डडईपानी ग्राम के आसपास ही लगातार घुम रहा है ।सोमवार को दिन में लगभग दोपहर 12 बजे के आसपास हाथियों के दल ने ग्राम छिन्दौला और लूठापारा के बीच जंगल से सडक को पार किया मैनपुर में साप्ताहिक बाजार होने के कारण बडी संख्या में लोग आ रहे थे हाथियों के दल को देखकर लोग वापस लौट गए और हाथियों का दल लगातार पैरी नदी के आसपास डेरा डाले हुए है।

क्या कहते है वन अफसर

वन परिक्षेत्र मैनपुर के अधिकारी गणेश राम ठाकुर ने बताया रविवार की रात एक बार फिर हाथियों की दल ने ग्राम छिन्दौला में धावा बोल दिया और एक ग्रामीण ऐतराम के मकान को क्षति पहुचा है, अभी हाथियों का दल छिन्दौला लूठापारा ग्राम के नजदीक कक्ष क्रमांक 886 जंगल में है और ग्रामीण अपने घरो के छतो के उपर अपनी सुरक्षा के लिए छावनी बनाकर वही रात बिताऐंगे जिसके लिए वन विभाग द्वारा उन्हे त्रिपाल की व्यवस्था किया जा रहा है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने