घर पर ही पूजा करके क्षेत्र की सुख शांति की कामना कर रहे हैं श्रद्धालु



नगरी।कोरोना महामारी ने भले ही श्रद्धालुओं के पग बांध दिए हो परन्तु भगवान भोलेनाथ पर अटूट विश्वास को डिगा नही सका है। श्रावण काल में भगवान भोलेनाथ की कृपा श्रद्धलुओं पर बरसती है लोग इस मास में कई-कई किलोमीटर पैदल चलकर भगवान के ज्योतिर्लिग व शिवालय के दर्शन को पहुचते है। वर्तमान स्थितियों को देखते हुए श्रद्धालु कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए सवस्फूर्त शासन द्वारा बनाये नियमो का पालन कर आसपास के मंदिर देवालय में जाकर अपनी भक्ति से भगवान को प्रसन्न करने में लगे हैं।
इस संबंध में नगर के युवा नेता भाजपा मंडल नगरी के मंत्री विनोद गिरी का कहना है कि कोरोना काल मे बाबाधाम जाना संभव नही है, विगत दस सालों से नगरी, धमतरी, भिलाई के सहपाठियों के साथ अनवरत बाबाधाम पहुचकर भोलेनाथ की पूजा अर्चना कर आशिर्वाद प्राप्त किया है लेकिन उनकी आस्था और अटूट विश्वास भगवान भोलेनाथ पर बनी हुई है, नगरी स्थित शकर मंदिर पहुचकर बाबा की प्रतिमा बिम्ब मानकर पूजा-अर्चना में लगे है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने