कोरोना संक्रमण को रोकने में असफल N-95 मास्क, भारत सरकार ने की चेतावनी जारी


कोरोना के प्रसार को रोकने में असफल है वॉल्व N-95 मास्क, भारत सरकार ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखा पत्र


नई दिल्ली :-  देश में एन-95 मास्क को लेकर पहले दावा किया जा रहा था कि ये मास्क कोरोना वायरस से बचाव में कारगर है, लेकिन अब  सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को केंद्र सरकार ने  छिद्रयुक्त श्वासयंत्र एन-95 मास्क पहनने के खिलाफ पत्र लिखकर चेतावनी जारी की है, सरकार ने कहा है कि इस मास्क से कोरोना वायरस का प्रसार नहीं रुकता, ये मास्क महामारी को रोकने के लिए उठाए गए कदमों के ‘विपरीत’ है |

स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक राजीव गर्ग ने सभी राज्यों और प्रदेशों के स्वास्थ्य शिक्षा मामलों के प्रधान सचिवों को पत्र लिखा है, उन्होंने कहा, “छिद्रयुक्त श्वसनयंत्र एन-95 मास्क संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अपनाए गए कदमों के विपरीत है, ये मास्क कोरोना को मास्क के बाहर आने से नहीं रोकता.”

 क्या है सही तरीका

मास्क इस्तेमाल करने के कुछ तरीके और जरूरी सावधानियां एक्सपर्ट के अनुसार है जिनका पालन करना चाहिए
  • मास्क को इस्तेमाल में लाने से पहले देख लें कि ये कहीं से गंदा तो नहीं, इसमें कोई छेद तो नहीं.
  • मास्क का इस्तेमाल तब ना करें जब ये गंदा हो या फिर भीगा हुआ हो.
  • एक निश्चित समय के बाद मास्क को बदल दें.
  • जब इस्तेमाल ना हो तब मास्क को इसकी ओरिजनल पैकिंग में साफ सुथरी जगह पर रखें.
  • मास्क धूल मिट्टी, नमी या फिर डाइरेक्ट सनलॉइट के संपर्क में नहीं आना चाहिए
  • मास्क लगाते समय ये ध्यान रखे कि ये आपके चेहरे पर पूरी तरह से फिट हो.

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने