छात्रों के साथ धोखाधड़ी,ओपन के लिये भरा था फॉर्म ,चपरासी छात्रों के हजारों रुपए लेकर हुआ फरार

 

धमतरी।माध्यमिक शिक्षा मण्डल छत्तीसगढ़ द्वारा ली जाने वाली ओपन परीक्षा में  कक्षा 10 एवं 12 वीं के लिए निर्धारित शुल्क जमा कर फार्म भरने के बाद भी कई विद्यार्थी परीक्षा देने से वंचित रह गए। इसकी वजह जिस स्कुल में उन्होने जिसके पास पैसा और फार्म जमा कराया था उसने स्कुल प्रबधंन के पास राशि जमा नही कराई। पीड़ित छात्रों ने पुलिस में लिखित शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है। 
 
शुक्रवार को अपनी शिकायत दर्ज कराने कुरूद थाना पहुंचे पूजा साहू विष्णु साहू सोनपैरी,ओम कुमारी परखंदा,  प्रकाश साहू मोंगरा,  प्रखर रंजन मोहंदी सहित अन्य विद्यार्थियों ने बताया की माध्यमिक शिक्षा मण्डल  की 4 और 9 अगस्त को होने वाली 10,12 वीं की परीक्षा के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक बालक विद्यालय में 22 से 27 नवंम्बर 2019 को ओपन परीक्षा सेंटर के काउन्टर में निर्धारित 1500,1700 रूपये एवं फार्म जमा कराया गया था। लेकिन करीब दर्जनों विद्यार्थीयों को परीक्षा में बैठने की पात्रता नही मिली। पीडि़त छात्रों ने बताया की जिस व्यक्ति के पास पैसा जमा कराया था उसने रशीद नही दी थी। स्कुल प्रबंधन भी इस मामले में संतोषप्रद जवाब नही दे रहा है। 
 
पैसे के अलावा उनका एक साल बर्बाद करने वाले दोषियों के खिलाफ कार्यवाही हेतु सक्षम अधिकारीयों से शिकायत की गई है। इस सबंध में बताया गया कि छात्रों के शिकायत के बाद 22 जुलाई को सम्बधित चपरासी देव यादव को नौकरी से निकाल दिया गया है। इस मामले में राहुल गांधी विचार मंच के प्रदेशाध्यक्ष रमेश पाण्डेय ने पीडि़त छात्रों का पक्ष लेते हुए कहा की शाला त्यागी व शिक्षा को बढावा देने के लिए शासन ने ओपन स्कुल परीक्षा योजना लागु की है लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही होनीे चाहिए।
 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने