गोठानों में संग्रहित गोबर का अब प्रत्येक सप्ताह होगा भुगतान




ग्राम अछोटा, देवपुर में गोठान निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने दिए निर्देश


धमतरी 10 अगस्त 2020। गोधन न्याय योजना के तहत कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने धमतरी विकासखण्ड की ग्राम पंचायत अछोटा व देवपुर में बनाए गए गोठानों का निरीक्षण कर गोठान समिति तथा महिला समूहों के सदस्यों से चर्चा कर जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने जिला पंचायत की सी.ई.ओ.  नम्रता गांधी को कहा कि जिले के गोठानों में संग्रहित गोबर का भुगतान एक सप्ताह के भीतर किया जाए। इसके अलावा कलेक्टर ने ब्लाॅक स्तर के नोडल अधिकारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी तथा गोठान समिति व महिला समूहों को सघन प्रशिक्षण देकर वर्मी खाद तैयार करने में तेजी लाने के भी निर्देश दिए।


कलेक्टर श्री मौर्य  सबसे पहले ग्राम अछोटा में स्थित गोठान का निरीक्षण किया। वहां पर उन्होंने स्थानीय सरपंच तथा गोठान समिति के सदस्यों से चर्चा कर नाडेप टंकियों में प्रतिदिन प्राप्त होने वाले औसतन गोबर के बारे में पूछा, साथ ही संधारित की गई पंजियों का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने उप संचालक कृषि को एक चेकलिस्ट तैयार कर गोठान से संबंधित सभी मूलभूत जानकारी की प्रविष्टि करने के लिए निर्देशित किया, जिसमें प्रतिदिन गोबर की आवक, नाडेप टैंकों में डाले गए केंचुए की स्थिति, गोबर की गुणवत्ता और उसकी फार्मिंग की स्थिति आदि का संधारण संबंधित नोडल अधिकारी तथा ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी द्वारा कराए जाने के निर्देश दिए। इसके अलावा नाडेप टांकों में वैज्ञानिक विधि से वर्मी के उत्पादन करने के लिए कृषि विज्ञान केन्द्र से प्रशिक्षण सह कार्यशाला आयोजित कर गोठान समिति को तकनीकी जानकारी देने के लिए भी कहा, जिससे कि अधिक मात्रा में कम्पोस्ट तैयार कर उससे आय अर्जित की जा सके।


तदुपरांत कलेक्टर ने धमतरी विकासखण्ड की ग्राम पंचायत देवपुर (डोंगापथरा) में स्थित गोठान का निरीक्षण किया। यहां पर भी महिला समूहों तथा गोठान समिति को बेहतर ढंग से कार्य निष्पादित करने के लिए प्रशिक्षण की आवश्यकता पर जोर दिया तथा जल्द ही सिलसिलेवार प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने के लिए सी.ई.ओ. जिला पंचायत को कहा। इस दौरान बताया गया कि धमतरी विकासखण्ड में औसतन प्रतिदिन प्रति गोठान दो क्विंटल गोबर प्राप्त हो रहा है। कलेक्टर ने वर्मी कम्पोस्ट के गुणवत्तापूर्ण उत्पादन पर फोकस करते हुए इसका सर्वोच्च प्राथमिकता से क्रियान्वयन करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर संबंधित विभाग के अधिकारीगण स्थानीय सरपंच, सचिव, समूह की महिलाएं तथा गोठान समिति के सदस्य उपस्थित थे।

       

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने