हृदयरोग से पीड़ित नन्हे-मुन्हे बच्चों को नया जीवनदान देकर संजीवनी हॉस्पिटल प्रबंधन ने छत्तीसगढ़ का गौरव बढ़ाया



 रायपुर श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल प्रबंधन के काम-काज की मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने सराहना की है। मुख्यमंत्री  ने कहा कि श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल ने मानव सेवा का उच्चतम मापदण्ड स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि संजीवनी हॉस्पिटल प्रबंधन ने हृदयरोग से पीड़ित नन्हे-मुन्हे बच्चों को नया जीवनदान देकर छत्तीसगढ़ का गौरव बढ़ाया है। राज्य को एक नई पहचान दी है। उन्होंने इस मौके पर श्री सत्य साई बाबा को नमन करते हुए कहा कि उन्होंने छत्तीसगढ़ की पहचान हिन्दुस्तान के दिल के रूप में की और यहां बच्चों के दिल के निःशुल्क ऑपरेशन का हॉस्पिटल स्थापित कर छत्तीसगढ़ राज्य को भी मानव सेवा के इस महान कार्य में भागीदारी निभाने का सुअवसर दिया है।

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल  अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल के जीवन उपहार उत्सव को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री रूचिर गर्ग भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर संजीवनी हॉस्पिटल में हृदयरोग का इलाज कराकर स्वस्थ हुए बच्चों एवं उनके परिजनों को बधाई और शुभकामनाएं दी और कहा कि संजीवनी हॉस्पिटल के जरिए बच्चों को नया जीवन मिल रहा है। उन्होंने इस मौके पर पालकों को अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा-दीक्षा देकर उन्हें योग्य नागरिक बनाने की अपील की। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कोविड के दौरान श्री सत्य साई हॉस्पिटल प्रबंधन एवं चिकित्सकों ने साहस का परिचय देते हुए हृदयरोग से पीड़ित बच्चों के इलाज का सिलसिला जारी रखा। यह प्रशंसनीय है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मनुष्य का जीवन सेवा के लिए है। यह संदेश श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल के जरिए पूरे देश-दुनिया में प्रसारित हो रहा है।
    जीवन उपहार उत्सव को सम्बोधित करते हुए संस्थान के चेयरमेन  श्रीनिवास ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार और समाज के सहयोग से श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल हृदयरोग से पीड़ित बच्चों का निःशुल्क इलाज सफलतापूर्वक कर रहा है। बच्चों के दिल की बीमारी के निवारण में छत्तीसगढ़ राज्य ने पूरी दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। यह सरकार, संस्था और समाज का श्रेष्ठतम समन्वय शक्ति बन गया है। कोविडकाल में हृदयरोग से पीड़ित बच्चों को संजीवनी हॉस्पिटल तक लाने तथा बच्चों सहित उनके परिजनों के क्वॉरंटीन की छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा की गई बेहतर व्यवस्था के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का धन्यवाद ज्ञापित किया। चेयरमेन  श्रीनिवास ने छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा संचालित सुपोषण अभियान की सराहना की। उन्होंने कहा कि संजीवनी हॉस्पिटल द्वारा साई स्योर नाम से पोषण आहार तैयार किया गया है। संजीवनी हॉस्पिटल प्रबंधन छत्तीसगढ़ राज्य विशेषकर बस्तर अंचल में पोषण के स्तर को बेहतर बनाने के लिए सरकार के समन्वय से बच्चों, किशोरी बालिकाओं एवं गर्भवती माताओं को उपलब्ध कराएगा। इससे उनके स्वास्थ्य में सुधार आएगा।
    इस मौके पर श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल संस्थान द्वारा कोविडकाल के दौरान संक्रमण की रोकथाम एवं दिव्य चिकित्सकीय सुविधा का वीडियो के माध्यम से प्रस्तुतिकरण किया गया। इस मौके पर डॉ. रजनी पाण्डेय ने बताया कि श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल द्वारा अब तक छत्तीसगढ़ सहित देश-विदेश के एक लाख से अधिक बच्चों को हृदय रोग संबंधी चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने बताया कि 12 हजार से अधिक बच्चों के हृदय रोग का सफल ऑपरेशन किया गया है। कोविडकाल में भी हृदय रोग से पीड़ित बच्चों का इलाज जारी रहा। इस दौरान देश के विभिन्न राज्यों से आए बच्चों का सफल ऑपरेशन किया गया। उन्होंने कोविडकाल में बाहर से आने वाले बच्चों एवं उनके परिजनों के क्वॉरंटीन के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा नवा रायपुर में 16 फ्लैट, 400 पीपीई किट तथा कोविड सैम्पल की जांच की निःशुल्क व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार और मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल का आभार जताया। उन्होंने बताया कि संजीवनी हॉस्पिटल में ब्लड बैंक की स्थापना की गई है, जहां तीन माह में 272 लोगों ने रक्तदान किया है। उन्होंने इसे सरकार और संस्था के सरोकार का अच्छा उदाहरण कहा। श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल प्रबंधन द्वारा दिव्य माता एवं शिशु कार्यक्रम के अंतर्गत आज अपने संस्थान में डॉ. सी. राजेश्वरी संगवारी क्लिनिक का भी शुभारंभ किया गया। इसका उद्देश्य बच्चों, किशोरी बालिकाओं एवं गर्भवती माताओं को निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना है।
    इस मौके पर छत्तीसगढ़ सहित महाराष्ट्र के गोंदिया, ओडिशा के सम्बलपुर, मध्यप्रदेश के अनुपपुर जिले से हृदयरोग के ऑपरेशन के लिए नवा रायपुर के श्री सत्य साई संजीवनी हॉस्पिटल आए बच्चों के परिजनों ने यहां की सेवाभावना की सराहना की और क्वॉरंटीन के लिए आवास सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मिले सहयोग के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया। कार्यक्रम में ऑपरेशन के बाद स्वस्थ हुए बच्चों एवं उनके पालकों को जीवन उपहार सर्टिफिकेट प्रदान किया गया। कार्यक्रम के अंत में डॉ. अतुल प्रभु ने आभार जताया।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने