Video नक्सलियों ने पेड़ काटकर नगरी मैनपुर मुख्यमार्ग किया अवरुद्ध,घोरागांव मुठभेड़ को बताया फर्जी



पुलिस ने पूरे इलाके में अलर्ट जारी कर तेज किया सर्चिंग अभियान



नगरी। जिले के नगरी सिहावा इलाके में एक बार फिर नक्सलियों ने दस्तक दी है। नक्सलियों ने पेड़ काटकर नगरी- मैनपुर मुख्यमार्ग अवरुद्ध कर दिया है।मौके पर बैनर भी लगाया है,जिसमें हाल ही में घोरागांव में हुए मुठभेड़ को फर्जी बताते हुए धमतरी व गरियाबंद जिले में चौबीस घंटे बंद का आह्वान किया गया है।

ज्ञात हो कि चार दिन पहले ही 30 अगस्त की रात डीआरजी नगरी और नक्सलियों के बीच गरियाबंद सीमा से लगे घोरागांव जंगल में मुठभेड़ हुई थी। जिसमें ईनामी नक्सली गोबरा एलओएस कमांडर रवि उर्फ सन्नू मारा गया था। वहीं बड़ी मात्रा में हथियार सहित अन्य सामग्री बरामद किया गया । दो दिन तक इंतजार करने के बाद जब कोई भी उसका शव लेने नही पहुंचा तब पुलिस ने स्वर्गधाम सेवा समिति के सहयोग से गुरुवार को उसका अंतिम संस्कार कर दियाअंतिम संस्कार के चंद घंटे बाद ही देर रात नक्सलियों नगरी ब्लाक मुख्यालय से करीब 11 किलोमीटर और सांकरा से 3 किलोमीटर दूर दो विशालकाय पेड़ काटकर नगरी-मैनपुर मुख्यमार्ग को अवरुद्ध कर दिया.।

मौके पर बैनर भी पाया गया है जिसमें भाकपा माओवादी डिवीजन कमेटी के प्रवक्ता गुड्डू मरकाम के हवाले से घोरागांव जंगल में हुए मुठभेड़ को फर्जी बताते हुए विरोध जाहिर किया गया है. साथ ही कहा गया है कि कामरेड रवि उर्फ मलेश कुंजाम बीते 2018 से गोबरा एरिया कमांडर की जिम्मेदारी निभाते आ रहा था.।पार्टी में उसने 19 साल काम किया।मुठभेड़ के विरोध में धमतरी व गरियाबंद में 24 घंटे बंद का आह्वान नक्सलियों ने किया है।

इस संबंध में नगरी एसडीओपी नीतीश ठाकुर ने बताया कि नगरी मैनपुर मार्ग में पेड़ काटकर अवरुद्ध किया गया है यहां पर एक बैनर भी मिला है जिसमें घोरागांव जंगल को मुठभेड़ बताया है। आईडी लगे होने की आशंका पर बीडीएस की टीम को बुलाकर सर्चिंग की जा रही है। रास्ते को क्लियर कर दिया गया है
इस सबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु मौके पर पहुंचे और अपनी देखरेख में ही वहां पर सर्चिंग कराई। बैनर में नक्सलियों ने खुद स्वीकार किया है कि रवि 19 साल से उनके दलम में काम करता था।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने