स्कूलों को शुरू करने और आरटीई का बकाया राशि वापस दिलाने निकाली गई रैली

 



धमतरी।2 नवंबर से प्रदेश में सभी स्कूलों को प्रारंभ करने की मांग को लेकर निजी विद्यालय संघ की प्रदेश इकाई द्वारा 27 अक्टूबर को पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन गया। इसी कड़ी में धमतरी जिला निजी विद्यालय संघ द्वारा कर्मा चौक रुद्री रोड ,धमतरी से बड़ी रैली निकालते हुए कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा।



 निजी विद्यालय संघ के अध्यक्ष सुबोध राठी ने बताया कि अनेक प्रदेशों में विद्यालय प्रारंभ हो चुके हैं जबकि छत्तीसगढ़ राज्य में विगत 7 माह से विद्यालय बंद है। विद्यालय बंद होने से छात्र-छात्राएं, शिक्षक, विद्यालय संचालक सभी परेशान है ।छात्रों की पढ़ाई का नुकसान हो रहा है।शासन स्पष्ट कर चुकी है कि इस साल जनरल प्रमोशन नहीं होना है परंतु विद्यालय भी प्रारंभ नहीं हो रहे हैं। 2 नवंबर से केंद्रीय विद्यालय प्रारंभ हो रहा है। हम भी प्रदेश सरकार से मांग करते हैं 2 नवंबर से धमतरी जिले के सभी विद्यालयों को प्रारंभ किया जाए ।साथ ही 2 वर्षों की RTE की जो राशि स्कूलों का अभी तक प्रदान नहीं की गई है उस राशि को भी शासन अविलंब प्रदान करें। RTE की राशि नहीं मिलने से विद्यालय गंभीर आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है ।इस कोरोना काल में जहां शासन सभी वर्गों की चिंता कर रहा है तो वहीं दूसरी ओर स्कूलों को उसके स्वयं के पैसे के लिए बार-बार घुमाया जा रहा है । हम प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से अनुरोध करते हैं अति शीघ्र स्कूलों की  RTE की राशि का भुगतान उन्हें किया जाए।        इन दोनों मांगों को लेकर रैली निकाली गई। मुख्यमंत्री के नाम डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया।



रैली में निजी विद्यालय कल्याण संघ के संरक्षक दीपक लखोटिया, धीरज अग्रवाल, उपाध्यक्ष विनोद पांडे, टीआर सिन्हा,अशोक देशमुख, सूर्य प्रभा चेटियार, तरुण  भांडे, एमके मसीह, कमलेश राठौर, गोविंद मगर, भूपेश चौधरी, मोहन नाहटा,पारख दास मानिकपुरी सहित 200 से अधिक निजी विद्यालय के संचालक शामिल हुए।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने