महिलाओं में घरेलू हिंसा से संरक्षण एवं जागरूकता लाने कार्यक्रम आयोजित

 



नगरी।महिला एवं बाल विकास छत्तीसगढ़ शासन द्वारा अधिसूचित सेवा प्रदाता संस्था जननी सेवा संस्थान नगरी के तत्वाधान में विवेकानंद वार्ड नंबर 7 में स्थित कार्यालय भवन पर दीपावली मिलन कार्यक्रम 29 नवंबर को आयोजित किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि अध्यक्ष जनपद पंचायत नगरी  दिनेश्वरी नेताम थी, अध्यक्षता जनपद सभापति सुलोचना साहू ने की।विशिष्ठ अतिथि के रूप में मुनाइकेरा सरपंच महेंद्र नेताम, नपं नगरी पार्षद द्वय सुनीता निर्मलकर, ललिता साहू, शिक्षक एमके रत्नाकर, मानेश कुमार सिन्हा, अधिवक्ता अभिषेक जैन, सुरेश साहू, हेमलता साहू, टुकेस्वरी साहू थे। मुख्य वक्ता के रूप में व्याख्याता  निशा साहू उपस्थित रही। 



कार्यक्रम में संस्था के संयोजक शेष नारायण गजेंद्र ने घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण के बारे में प्रकाश डालते हुए कहा कि शारीरिक दुर्व्यवहार अर्थात शारीरिक पीड़ा, अपहानि या जीवन या अंग या स्वास्थ्य को खतरा या लैंगिग दुर्व्यवहार अर्थात महिला की गरिमा का उल्लंघन, अपमान या तिरस्कार करना या अतिक्रमण करना या मौखिक और भावनात्मक दुर्व्यवहार अर्थात अपमान, उपहास गाली देना या आर्थिक दुर्व्यवहार अर्थात आर्थिक या वित्तीय संसाधनों जिसकी वह हकदार है से वंचित करना ऐसे घरेलू हिंसा कहलाते है। आगे उन्होंने  बताया कि संस्था का मुख्य उद्देश्य महिलाओं पर हो रहे अत्याचार, प्रताड़ना के विरोध में कार्य करना है और घरेलू हिंसा से महिलाओं में संरक्षण एवं जागरूकता लाने का भाव है। नवा बिहान के मार्फत जननी सेवा संस्था नगरी के तत्वाधान में यह कार्य किया जा रहा है।  उपस्थित सभी अतिथियों ने कार्यक्रम में अपने अपने विचार रखे। कार्यक्रम के आयोजन में कार्यालय प्रभारी नगरी देवेस्वरी साहू, आपरेटर पूर्णिमा यादव का योगदान रहा।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने