25 नए हाथियों के दल ने धमतरी जिले में दी दस्तक, वन विभाग अलर्ट



डीएफओ टीम के साथ पहुंची मौके पर 


भूपेंद्र साहू

धमतरी।एक बार फिर गरियाबंद की ओर से हाथियों के दल ने धमतरी जिले में दस्तक दे दी है। इस बार 25 हाथियों का झुंड है और प्रवेश नगरी क्षेत्र की ओर से किया गया है। सूचना मिलते ही वन विभाग अलर्ट हो गया है।डीएफओ मौके पर निरीक्षण के लिए पहुंच गई है।

धमतरी जिले में बीच-बीच में हाथियों का दल गरियाबंद क्षेत्र से पहुंचता है और लंबे समय तक यहां प्रवास पर रहते हैं इस बार फिर से हाथियों के झुंड ने धमतरी जिले में प्रवेश किया है, इस बार 25 हाथियों का दल है। पिछले दो बार चंदा हाथियों का दल मगरलोड ब्लाक से जिले में प्रवेश किया था लेकिन इस बार नगरी ब्लाक की ओर से आया है। सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम अलर्ट हो गई है। हालांकि अब तक किसी भी इलाके में नुकसान की सूचना नहीं मिली है।25 हाथियों के झुंड की वजह से नगरी ब्लाक के क्षेत्र में दहशत का माहौल है ।

इस संबंध मेंडीएफओ संतोविशा समाजदार ने बताया कि बुधवार की रात नगरी ब्लाक में 25 हाथियों के दल ने जंगल में प्रवेश किया है। कक्ष क्रमांक 341 भैसामुड़ा क्षेत्र में यह दल है ।सूचना मिलते ही रात में वन विभाग की टीम पहुंच गई थी और लकड़ी जलाकर उन्हें जंगल की ओर से भगाया गया ताकि गांव क्षेत्र में ना पहुंच पाए। एक जगह खेत में धान रखा हुआ था जिसे नुकसान पहुंचा है। अभी हाथियों  के जंगल में ही रहने से किसी प्रकार की हानि नहीं हुई है।जानकारी मिलते ही वह खुद पहुंची है। नगरी, बिरगुड़ी रेंज के एसडीओ लगातार इस पर नजर रखे हुए हैं। लोगों को जंगल की ओर जाने से मना कर दिया गया है। इनका मूवमेंट किस तरफ होगा यह भी स्पष्ट नहीं है शाम से हाथियों का झुंड चलता है,  शुक्रवार सुबह ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि यह 25 हाथियों का दिल किस तरफ पहुंचता है।


 ज्ञात हो कि वर्ष 2020 में चंदा हाथियों का दल गरियाबंद से मगरलोड ब्लॉक होते हुए दो बार धमतरी पहुंचा था। पहली बार चंदा हाथियों का क्षेत्र में विचरण के बाद कांकेर से वापस लौट कर गरियाबंद चला गया था। इस दौरान डुबान में एक शिशु हाथी की मौत भी हुई थी। दोबारा सितंबर माह में फिर वह हाथियों का दल पहुंचा। कुछ दिनों तक डुबान क्षेत्र में रहने के बाद वह कांकेर होते हुए वर्तमान में डौंडी ब्लाक में विचरण कर रहा है।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने