विभाग में लाखों की हेराफेरी, कलेक्टर के पत्र के बाद जिला आबकारी अधिकारी तत्काल हटाये गए

 


धमतरी। मगरलोड धमतरी देशी विदेशी मदिरा दुकान में लाखों की हेरा फेरी मामले में कलेक्टर जेपी मौर्य के प्रबंध संचालक को लिखे पत्र के बाद तत्काल जिला आबकारी अधिकारी मोहित जायसवाल को आयुक्त कार्यालय में अटैच कर दिया गया है।


ज्ञात हो कि  आबकारी विभाग में मगरलोड और धमतरी के देशी.विदेशी मदिरा बिक्री की लाखों रुपए विभागीय खाते में जमा नहीं करने के मामले में जिला कलेक्टर ने राज्य शासन को पत्र लिखा था। इसके बाद राज्य शासन ने आबकारी अधिकारी को आयुक्त मुख्यालय में अटैच कर दिया गया है। बता दें कि जिला कलेक्टर ने शासन को पत्र लिखा था कि इस पर हेराफेरी में आबकारी अफसर मोहित जायसवाल के अलावा हेंडलिंग एजेंसी  व आबकारी उप निरीक्षक  की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है। बकायदा कलेक्टर ने इस मामले में जांच टीम गठित कर शासन को पत्र लिखा गया था।


 जानकारी के मुताबिक जिले के आबकारी विभाग मगरलोड एवं धमतरी की देसी विदेशी मदिरा बिक्री की लाखों रुपए के विभागीय खाते में जमा करने में हेराफेरी की गई है जबकि नियम अनुसार शराब दुकान बंद होने के बाद दिनभर की बिक्री से आए रुपए अगले दिन जमा करना होता है यहां ऐसे नहीं किया गया था। फिलहाल इस कार्रवाई के बाद अब धमतरी जिले के आबकारी विभाग की कमान जांजगीर चांपा जिले में पदस्थ  अतिरिक्त आबकारी अधिकारी राजेश जायसवाल संभालेंगे।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने