संत गाडगे बाबा स्वच्छता के संदेश दूत थे - महापौर,झिरिया धोबी समाज ने मनाई संत गाडगे बाबा की जयंती

 





 धमतरी।आमातालाब रोड में झिरिया धोबी समाज भवन नयापारा, रामसागर पारा धमतरी में संत गाडगे बाबा की जयंती धूमधाम से झिरिया धोबी समाज द्वारा मनाया गया। समाजजनों द्वारा महापौर विजय देवांगन एवं सभापति अनुराग मसीह सहित अतिथियों का जोरदार स्वागत कर अभिनन्दन किया ।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  नगर निगम महापौर विजय देवांगन थे।कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष झिरिया धोबी समाज धमतरी भरत निर्मलकर ने की।  विशिष्ट अतिथि  नगर निगम सभापति अनुराग मसीह, जल विभाग के अध्यक्ष अवैश हाशमी,पार्षद पूर्णिमा गजानंद रजक एवं रामसागर पारा वार्ड पार्षद श्यामा साहू, झिरिया धोबी समाज धमतरी राज संरक्षक एवं महिला प्रकोष्ठ चित्रलेखा निर्मलकर, कोषाध्यक्ष मंगलु निर्मलकर, जीआर बंजारे समाजसेवी, उपस्थित रहे। तेलंगाना में आयोजित राष्ट्रीय महिला शालेय क्रिकेट में कप्तान ज्योति रजक का सम्मान किया गया। 


सभी उपस्थित समाजजनों को प्रणाम करते हुए महापौर विजय देवांगन ने कहा कि कर्मयोगी राष्ट्रसंत गाडगे बाबा का जन्म महाराष्ट्र के अमरावती शेगांव जिले के अंजनगांव में 23 फरवरी 1876 को हुआ था। उनका बचपन का नाम डेबूजी झिंगराजी जानोरकर था। गाडगे बाबा सच्चे निष्काम कर्मयोगी थे। संत गाडगे बाबा जो कि स्वच्छता संदेश के दूत थे जिन्होंने जहां - जहां जाते वहां - वहां सफाई के प्रति विशेष अभियान चलाते थे और अच्छाई और सच्चाई के रास्तों में चलने प्रेरित करते थे। उन्होंने महाराष्ट्र सहित देश में अनेक धर्मशालाएं, गौशालाएं, विद्यालय, चिकित्सालय तथा छात्रावासों का निर्माण करवाया किंतु अपने सारे जीवन में इस महापुरुष ने अपने लिए एक कुटिया तक नहीं बनवाई। उन्होंने धर्मशालाओं के बरामदे या आसपास के किसी वृक्ष के नीचे ही अपनी सारी जिंदगी बिता दी।जो अपने आप में बेमिसाल है। झिरिया धोबी समाज द्वारा सामुदायिक भवन विस्तार हेतु राशि की मांग की गई जिस पर तीन लाख राशि की घोषणा करता हूं और समाज द्वारा मांग आने पर नगर निगम के एक मणि कंचन केंद्र का नाम संत गाडगे बाबा के नाम से रखा जाने के लिए भी उन्होंने आश्वस्त किया।

सभापति अनुराग मसीह ने समाज के कार्यों की और एकता की प्रसंशा की। जल विभाग अध्यक्ष हाशमी ने समाज द्वारा किए गए सम्मान के प्रति आभार व्यक्त किया। समाज के अध्यक्ष भरत निर्मलकर,पार्षद पूर्णिमा रजक,नगर पालिका की पूर्व उपाध्यक्ष चित्ररेखा निर्मलकर एवं समाजसेवी जीआर बंजारे एवं सुशीला वाल्मीकि ने भी समाज के कार्यक्रम को संबोधित कर झिरिया धोबी समाज की कार्यशैली की प्रसंशा करते हुए सभी को संत गाडगे बाबा की 145वीं जयंती की बधाई दी।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से भागवत प्रसाद छाटा, मनराखन रजक, लक्ष्मण रजक, डमलेश कोसरिया, गुड्डा रजक, सागर निर्मलकर, विजय निर्मलकर, झाड़ू रजक, शुद्धू निर्मलकर, बसंत निर्मलकर, महेश निर्मलकर, सुदामा निर्मलकर, कार्तिक रजक, पंचू रजक एवं समाज के लोग उपस्थित थे।


 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने