कसावाही में घुसा हाथियों का दल गेहूं के फसल को पहुंचाया नुकसान, ग्रामीणों में दहशत

 

भूपेंद्र साहू

धमतरी।करीब 12 दिन से धमतरी बालोद जिले के बॉर्डर में चंदा हाथियों का दल विचरण कर रहा है और यह हाथियों का दल अब ग्राम कसावाही में पहुंच गया है।जिससे आसपास के ग्रामीणों में दहशत है। शनिवार सुबह खिड़कीटोला से आगे कसावाही पहुंचा। गेहूं के फसल को जमकर नुकसान पहुंचाया है। लाइट बंद होने की वजह से और परेशानी हो रही है।


 2 फरवरी की रात चंदा हाथियों का दल बालोद जिले से होते हुए तुमाबुजुर्ग तुमराबहार में पहुंचकर गौशाला, आसपास के फार्म हाउस में विध्वंस मचाने के बाद बरकछार की ओर उतर गया था। जिससे आसपास के गांव में दहशत बना हुआ था।अब चिंता का विषय यह है कि हाथियों का दल धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है।


कसावाही के अकबर ध्रुव ने बताया कि शनिवार रविवार की दरमियानी रात हाथी कसावाही  पहुंचे थे और गेहूं के फसल को नुकसान पहुंचाए हैं। जिससे  उसका लगभग 1 एकड़ फसल खराब हो गया और उसको 20000 से ज्यादाका नुकसान हुआ है। रात लगभग 1:30 बजे घर के दरवाजे को भी धक्का देने लगे थे जिससे डर की वजह से उनका पूरा परिवार छत पर चढ़ गया था। गांव में लाइट बंद होने से बड़ी परेशानी हो रही है। ऐसे ही ओमवती सूर्यवंशी, बनारसी ,देवनारायण, धर्मेंद्र इनके भी गेहूं के फसल को नुकसान हुआ है  रविवार की रात भी डर है इसीलिए पूरे ग्रामीण रातजगा कर रहे हैं।गांव से मुश्किल से 500 मीटर की दूरी पर हाथी है।इधर धान खरीदी केंद्र के चौकीदार दिलीप उईके ने भी बताया कि लगभग 8:00 बजे खरीदी केंद्र की ओर हाथी आया था।डर कर गांव आ गया  

इस मामले में धमतरी रेंजर महादेव कन्नौजे ने बताया कि लगातार वन विभाग की टीम यहां पर बैठी हुई है। लोगों को अलर्ट कर दिया गया है।धान खरीदी केंद्र में हाथी घुसने की कोई सूचना नहीं मिली है।हाथीअभी जंगल में है रात में किस तरफ जाएंगे यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया है।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने