धमतरी पुलिस द्वारा आयोजित 7 दिवसीय 'अभिव्यक्ति' नारी के सम्मान जन जागरूकता कार्यक्रम का समापन

 


कर्तव्यों का सही ढंग से निर्वहन करने के लिए प्रेरित करने वाली मातृ शक्तियों के सम्मान से अभिव्यक्ति कार्यक्रम का हुआ था शुभारंभ




  धमतरी।  पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी के मंशानुरूप पुलिस अधीक्षक बी.पी. राजभानू द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस  के अवसर पर 8 मार्च से 14 मार्च  तक सात दिवसीय महिला सुरक्षा जन जागरूकता कार्यक्रम 'अभिव्यक्ति, नारी के सम्मान की' का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ रक्षित केंद्र धमतरी में जिले की प्रसिद्धि प्राप्त महिलाओं, महिला समाज सेवी संस्था के पदाधिकारियों एवं महिला पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को उनके कर्तव्यों का समुचित निर्वहन करने हेतु प्रेरणा देने वाली मातृ शक्तियों व परिजनों को सम्मानित किया गया।


         उक्त आयोजन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के नेतृत्व में महिलाओं एवं बच्चों को कानून में प्रदत्त अधिकारों के प्रति सजगता, शिक्षा का महत्व, उनकी सुरक्षा, सामाजिक कुरीतियों एवं अंधविश्वासों के प्रति सजगता, उनकी सुरक्षा हेतु प्रदत्त संसाधनों के संबंध में सप्ताह के प्रत्येक दिवस में कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार किया गया। जिसमें सूबेदार  रेवती वर्मा एवं महिला आरक्षकों व शक्ति टीम के द्वारा
धमतरी शहर के विभिन्न वार्डों, कॉलोनी क्षेत्रों व ग्रामीण अंचलों-मड़ई मेला, हाट बाजार, स्कूल, छात्रावास व बालक बाल गृह आश्रम पहुंचकर महिलाओं एवं बच्चों संबंधी अपराध के बारे में जानकारी देते हुए साइबर सुरक्षा, टोनही प्रताड़ना अधिनियम, दहेज प्रतिषेध अधिनियम, घरेलू हिंसा, बाल विवाह, पाक्सो एक्ट, मानव तस्करी, लैंगिक उत्पीड़न, पौष्टिक आहार, पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना, कैरियर काउंसलिंग, नशा मुक्ति, आत्मरक्षा एवं गुड टच-बैड टच आदि के संबंध में आम जनों को समझाइश देकर जागरूक किया गया। साथ ही छात्र-छात्राओं एवं बच्चों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से चित्रकला एवं रंगोली प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया।


अभिव्यक्ति नारी के सम्मान की 7 दिवसीय कार्यक्रम का समापन पीजी कॉलेज धमतरी में किया गया। समापन समारोह के अवसर पर रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें छात्र-छात्राओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया तथा मनमोहक रंगोलियां बनाई। उपस्थित लोगों को प्रोजेक्टर, बैनर-पोस्टर के माध्यम से महिलाओं एवं बच्चों संबंधी कानून में प्रदत्त अधिकारों एवं सुरक्षा संबंधी विस्तृत जानकारी दी गई। प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय विद्यार्थियों व बच्चों को पुरस्कृत भी किया गया। मणिकांचन केंद्र के सुपरवाइजरों को सम्मानित कर प्रशस्ति पत्र भी दिया गया।

         समापन समारोह में शासकीय महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ  श्रीदेवी चौबे अपने फैकेल्टी के साथ, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे, उप पुलिस अधीक्षक  सारिका वैद्य, सखी वन स्टॉप सेंटर की केंद्र प्रशासक उषा ठाकुर, प्रतिज्ञा विकास संस्थान द्वारा संचालित बालक बाल गृह आश्रम के अध्यक्ष  विजय मिश्रा, मणिकंचन केंद्र की सुपरवाइजर, सूबेदार रेवती वर्मा, महिला आरक्षक शबा मेमन, त्रिवेणी ध्रुव, माधुरी सोनवानी, संकल्प साहू, हेमलता मरकाम, महेश्वरी सिदार, तनुजा कंवर, कौशल्या गांवड़े, लक्ष्मी नागवंशी,आरक्षक राकेश साहू, सुशील यादव एवं सहायक आरक्षक मनोज मानिकपुरी तथा बड़ी संख्या में छात्राएं उपस्थित रहे।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने