कोविड-19 के लक्षण छुपाने पर होगी एफआईआर: कलेक्टर

 


लगातार मुनादी, डोर टू डोर सर्वे के बाद सर्दी-खांसी, बुखार के मरीजों की होगी अनिवार्य टेस्टिंग


45 साल से अधिक उम्र वाले शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित करने कलेक्टर ने टीम वर्क करने दिया जोर


धमतरी, 03 अप्रैल 2021।कलेक्टर  जयप्रकाश मौर्य ने जिले में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण की गम्भीरता को देखते हुए आज शाम को अनुविभागीय अधिकारियों, जनपद पंचायतों के सी.ई.ओ., नगरीय निकायों के सीएमओ सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लेकर 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों का शत-प्रतिशत टीकाकरण अगले 20 दिनों में पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने सभी एसडीएम को अपने-अपने अनुविभाग में लोगों को जागरूक करने, कंटेनमेंट जोन स्थापित करने तथा टीकाकरण के लक्ष्य की पूर्ति के लिए अधिकृत करते हुए ग्राम पंचायतों में लगातार मुनादी कराने, घर-घर जाकर सर्दी-खांसी, बुखार जैसे लक्षणों वाले व्यक्तियों को चिन्हांकित कर उनका कोविड परीक्षण अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिए।



कोविड के लक्षणों को छुपाना नहीं, बताना है, अन्यथा ऐसे लोगों पर सख्ती से कार्रवाई करते हुए एपिडेमिक एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज के लिए भी कलेक्टर ने निर्देशित किया।

 बैठक में कलेक्टर ने वी.सी. के जरिए ब्लाॅक स्तर के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सर्वेक्षण कार्य के लिए मितानिन, समूह की दीदी, शिक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, रोजगार सहायक, मेट सहित सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीम भावना से एक साथ आगे आकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि सर्वे के आधार पर ही प्राथमिक तौर पर ऐसे लोगों को चिन्हांकित कर उनका उपचार किया जा सकता है। साथ ही कोविड के प्रकरणों पर सतत् सतर्कता बरतते हुए निगरानी करने के निर्देश अनुविभागीय अधिकारियों को दिए। 


कलेक्टर ने टीकाकरण को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए जिले में स्थापित 124 टीकाकरण केन्द्रों में प्रतिदिन 12 हजार वैक्सिनेशन का लक्ष्य निर्धारित कर प्रत्येक केन्द्र में न्यूनतम 100 लोगों का टीकाकरण कराने तथा अगले 20 दिन में लक्ष्य पूर्ण करने पूरा प्रशासनिक अमले को झोंकने के भी निर्देश दिए। इसी तरह शहरी क्षेत्रों में वैक्सिनेशन की औसत दर में वृद्धि करने के लिए वार्डों में दीवार लेखन कराने तथा भ्रांतियों को दूर कर लोगों को जागरूक करने के लिए व 45 व उससे अधिक आयु के सभी श्रेणी के लोगों का टीकाकरण अनिवार्य रूप से किए जाने के लिए नगर निगम के आयुक्त को निर्देशित किया। नगरीय निकायों के वार्डो में राजस्व निरीक्षक, इंजीनियर, स्वसहायता समूह की महिलाओं इत्यादि की भी ड्यूटी लगाकर लोगों को टेस्टिंग और टीकाकरण के लिए प्रेरित करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए।


बैठक में कलेक्टर ने जिला स्तरीय अधिकारियों को क्लस्टरवार नोडल अधिकारी बनाने के निर्देश जिला पंचायत के सी.ई.ओ.  मयंक चतुर्वेदी को दिए। जिले से होंकर गुजरने वाली बसों को दिन में दो बार सोडियम हाइपोक्लोराइट के घोल से सैनिटाइज करने और ड्राइवर, कंडक्टर सहित सभी सवारियों को मास्क लगाना अनिवार्य करने के लिए भी निर्देशित किया। इसी प्रकार शाम 6 से सुबह 6 बजे तक प्रतिष्ठानों को बंद रखने के आदेश का कड़ाई से पालन करने पर कलेक्टर ने जोर दिया। वी.सी. के जरिए आयोजित बैठक में स्वास्थ्य विभाग, राजस्व, नगरीय निकाय सहित संबंधित विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।



 कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य की जिलावासियों से अपील..! जिले में स्थापित 124 टीकाकरण केन्द्र में जाकर वैक्सिनेशन अवश्य कराएं। यह आपके और आपके परिवार को कोरोना के संक्रमण से बचाकर सुरक्षित करने के लिए एकमात्र और सबसे बेहतर विकल्प है। कृपया भ्रांतियों एवं अफवाहों पर ध्यान ना दें और टीकाकरण अवश्य कराएं।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने