कोरोना के दौर में महिला सशक्तिकरण से लोगो को मिल रही राहत

 


नगरी।कोरोना काल में डरावने आंकड़े के बीच नगरी ब्लॉक की महिलाएं भी कोरोना वारियर बनकर बखूबी अपना दायित्व निभा रही है। लोगों को जागरूक करने के साथ ही लगातार मॉनिटरिंग कर शासन-प्रशासन के कार्यों में हाथ बटा रही है।कोरोना काल मे नगरी ब्लॉक की महिलाए कोरोना संक्रमण को मात देने कमरकस ली है।

एक ओर जंहा सरपंच बीसंतिन पालेश्वर लोगो को जागरूक करने में लगी है, वही जपं नगरी के ग्राम पंचायत हरदीभाठा में पदस्थ महिला सचिव संक्रमित मरीजो की निस्वार्थ सेवा कर रही है। जिसकी कार्यशैली से ग्रामीण सहित अधिकारी खुश है। विषम परिस्तिथियों में भी कोविड सेंटर की लगातार मॉनिटरिंग व व्यवस्था कर  मरीजों के बीच सचिव रुना साहू जीजान से लगी है। हरदीभाठा के प्राथमिक शाला में कोरेनटाईइ सेंटर बनाया गया है इस केंद्र की सुरक्षा महिला पंचायत सचिव द्वारा लगातार की जा रही है। सरपंच मुनेन ध्रुव, रोजगार सहायक पूर्णिमा बंजारे, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता दशमत नेताम, आरएचओ प्रदीप टंडन भी बारी-बारी 24 घण्टे मरीजों की निगरानी कर रहे है। 


सचिव रुना साहू ने बताया कि गुरुवार को सोमनाथ एवं उनकी पुत्री पूर्णिमा को कोरेनटाईन अवधि पश्चात सेंटर से मुक्त किया गया जिन्हें 6 दिनों के लिए घर पर होमआईसोलेट किया जाएगा। प्रदीप टंडन ने सभी एक्टिव मरीजों को घर के बजाय पंचायत के कोरेनटाईन सेंटर में आकर सुरक्षित रहने की अपील की है।

 मुख्यकार्यपालन अधिकारी जपं नगरी पीआर साहू का कहना है कि कोरोना के खिलाफ महायुद्ध में महिलाएं भी अपनी सहभागिता बेख़ौफ निभा रही है। यह देखकर मैं बहुत खुश हूं कि हमारी नगरी ब्लॉक की महिलाएं इस महायुद्ध का हिस्सा है उनकी यह पहल अनुकरणीय है।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने