महुआ बिनने गए ग्रामीण पर भालू का हमला,मुश्किल से बचाई जान

 

नगरी।ग्राम मुनईकरा निवासी नरसिंह नेताम उम्र 50 साल पिता स्वर्गीय लखमा राम नेताम रोज की तरह बुधवार को भी वह खेत से लगे जंगल (भतका) में महुआ बीनने गया था। जहां अचानक भालू ने हमला बोल दिया। डर के कारण नरसिंह भागने लगा, लेकिन भागने से जान का खतरा था इसलिए रुक कर लकड़ी व कुल्हाड़ी से भालू से बचने का प्रयास किया। 

उधर दूसरी तरफ से एक और भालू आकर उस पर हमला बोल दिया,उसके गले और दांत के जबड़ा में पंजा गड़ा कर हमला किया। दूसरे भालू ने उसके छाती में पंजा गड़ा दिया। बड़ी हिम्मत से उन्होंने दोनों भालू से बचकर पेड़ में चढ़कर जान बचाई और वहां आसपास महुआ बीन रहे लोगों को आवाज लगाई तब आसपास के लोगों ने आकर भालू को भगाया और उसे तत्काल गांव लाकर सरपंच व आसपास के लोगों को सूचना दी। 

तत्काल उसे चिकित्सीय उपचार हेतु दुगली लाया गया जहां से प्राथमिक उपचार कर नगरी रेफर कर दिया गया। आज छुट्टी होने के कारण उनका एक्सरे वगैरह नहीं हो पाया है। अभी हालत खतरे से बाहर है। सरपंच महेन्द्र नेताम, वनाधिकार समिति के अध्यक्ष संतोष नेताम व ब्रम्हा मरकाम साथ में मौजूद थे।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने