कोरोना से हुई मौत के बाद अंतिम संस्कार में महती भूमिका निभा रहे निगम कर्मी

 


 कोरोना काल में नगर निगम के कोरोना वाॅरियर्स डटे हैं मैदान में



धमतरी 30 अप्रैल 2021।वैश्विक महामारी का रूप ले चुके नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण के खतरे से बचने जहां एक ओर लोग अपने घरों में रहने विवश हैं, वहीं कुछ ऐसे भी कर्मवीर हैं जो उनके महकमे के द्वारा सौंपी गई जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं। इनमें से नगर निगम का अमला भी शामिल है जिसके कर्मचारी नियमित कामकाज के साथ-साथ कोविड के संक्रमण से हुई मरीजों की मृत्यु के बाद उनकी पार्थिव काया का अंतिम संस्कार कर मुखाग्नि देने की जोखिम भरे रस्म की अदायगी कर रहे हैं। 


नगर निगम के आयुक्त  मनीष मिश्रा ने बताया कि निगम के कोरोना वाॅरियर्स सुभाष साहू, वीरेंद्र साहू, ओंकार निर्मलकर,  नोहर साहू, विक्रम के द्वारा कोरोना से संक्रमित मरीजों की मृत्यु के बाद उनके मृत शरीर का अंतिम संस्कार कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोविड प्रोटोकाॅल के तहत संक्रमित मरीज की मृत्यु के उपरांत बेहद सावधानी एवं सतर्कता से मृत शरीर का अंतिम संस्कार करना होता है। थोड़ी सी भी चूक से आसपास के व्यक्तियों में संक्रमण फैलने का बहुत अधिक खतरा रहता है, इसलिए मृतक के सीमित परिजनों की उपस्थिति में विभिन्न प्रकार की रस्म एवं क्रियाकर्म में ये सभी युवक सकारात्मक और पुण्य कार्य को अंजाम दे रहे हैं, जो संक्रमण के इस दौर में आम आदमी के लिए मुमकिन नहीं है। 


निगम आयुक्त ने यह भी बताया कि निगम के तहत गठित स्वसहायता समूहों की दीदियां भी शहरवासियों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन कर रही हैं। उन्होंने बताया कि इस काम में दीदी रोशनी नायक, भारती साहू, संगीता बारले सहित 176 स्वच्छता दीदियों द्वारा डोर टू डोर कचरा संग्रहण किया जा रहा है, जो अपने आप में उल्लेखनीय कार्य है। इसी प्रकार निगम के सफाई कर्मचारियों द्वारा शहर के सभी 40 वार्डो में सैनिटाइजर स्प्रे का कार्य किया जा रहा है, साथ ही शहर के सभी चौक-चौराहे, गली-मोहल्ले एवं नालियों की सफाई इस कोरोना काल में पूरी शिद्दत के साथ जिम्मेदारी से निभा रहे हैं।





0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने