नक्सलियों के कब्जे में जवान? फोन कॉल के बाद पत्नी की उम्मीदें बढ़ी, अब पीएम और गृह मंत्री से गुहार

 

रायपुर।बीजापुर में शनिवार को हुए नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हो गए हैं। अब भी राकेश्वर सिंह मनहास नाम का एक जवान लापता है। 35 वर्षीय राकेश्वर  शनिवार को हुए एनकाउंटर के बाद से ही लापता है। कहा जा रहा है कि नक्सलियों ने उन्हें बंधक बना लिया है।राकेश्वर सिंह की पत्नी ने पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से उनके सुरक्षित वापसी की गुहार लगाई है ।इस बीच यह भी खबर आ रही है की नक्सली कमांडर ने स्थानीय पत्रकार और एसपी को फोन कर इसकी जानकारी दी है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि अब तक नहीं हो पाई है।

 एनकाउंटर के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया है। ऑपरेशन के दौरान जो इनपुट मिल रहे हैं उससे लगता है कि माओवादियों ने राकेश्वर सिंह को बंधक बना लिया है।हालांकि अब तक नक्सलियों की ओर से किसी प्रकार की समझौते या कोई मांग नहीं आई है। सोमवार को गृह मंत्री अमित शाह और भूपेश बघेल नक्सल प्रभावित क्षेत्र बासागुड़ा पहुंचे थे। 

बताया जा रहा है कि जिस व्यक्ति ने फोन किया था खुद को हिड़मा बताया था। हिड़मा पीजीएलए की बटालियन नंबर 1 का कमांडर है।जिसका नाम इस अटैक के बाद सामने आ रहा है। फोन आने के बाद राकेश्वर की पत्नी ने सुरक्षित वापसी की गुहार लगाई है। सीआरपीएफ ने कुछ अधिकारियों को राकेश्वर सिंह के घर भेजा है, उन्हें इस बात का दिलासा दिलाया गया है कि राकेश्वर सिंह के नक्सलियों के कब्जे में होने की बात पता लगा रहे हैं।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने