स्वेच्छा से वेतन कटौती का स्वायत्तशासी कर्मचारी संघ ने किया विरोध, कहा संक्रमित अधिकारी कर्मचारियों को नहीं मिलता कोई सहयोग

 


धमतरी।कोरोना संक्रमण काल में राज्य सरकार ने सभी कर्मचारियों के 1 दिन के वेतन कटौती स्वेच्छा से किए जाने का आदेश जारी किया है। जिसका स्वायत्त शासी कर्मचारी संघ नगर निगम धमतरी ने विरोध जताया है। यह भी कहा है कि कोरोना संक्रमित अधिकारी कर्मचारियों को किसी प्रकार का सहयोग प्राप्त नहीं होता है ।

धमतरी नगर निगम स्वायत्त शासी कर्मचारी संघ ने आयुक्त को दिए आवेदन में कहा है कि राज्य शासन के निर्देशानुसार कोविड 19 के तहत मुख्यमंत्री सहायता कोष में 1 दिन का वेतन  स्वेच्छा से कटौती किया जाना है। इस संबंध में स्वायत्त शासी  कर्मचारी संघ द्वारा समस्त नगर निगम अधिकारी कर्मचारियों की वेतन कटौती नहीं किए जाने का निर्णय लिया है, क्योंकि नगर निगम कर्मचारी लॉकडाउन में भी लगातार कोविड 19 के तहत कोरोना वारियर्स के रूप में कार्य कर रहे हैं। 


 शासन द्वारा समय-समय पर दिए जाने वाले महंगाई भत्ता एवं एरियर्स की राशि आदि लंबित है जिसका भी भुगतान नहीं किया जा रहा है। शासन द्वारा कर्मचारियों का बीमा भी नहीं किया गया है,  वेतन भी विलंब से प्राप्त होता है यदि कोई कर्मचारी स्वेच्छा से अपना 1 दिन का वेतन कटौती करना चाहता है तो संघ को कोई आपत्ति नहीं है। 


यह भी कहा है कि पिछले वर्ष नगर निगम धमतरी में माह मई और जून में दो बार वेतन कटौती किया गया था किंतु अन्य नगरीय निकायों में 1 दिन का वेतन काटा गया था। वर्तमान में कोरोना संक्रमित होने वाले अधिकारी कर्मचारियों को किसी प्रकार का सहयोग प्राप्त नहीं होता है,जिसे सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए ऐसे कर्मचारियों को सहयोग प्रदान करने का निर्णय संघ द्वारा लिया गया है।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने