राज्यपाल ने प्रदेश के 48 शिक्षक और 08 विद्यालयों को किया सम्मानित

 

 

राजभवन में राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह

 

रायपुर :

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने आज भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली डॉ. राधाकृष्णन की जन्म जयंती शिक्षक दिवस के अवसर पर राजभवन के दरबार हॉल में आयोजित राज्य स्तरीय सम्मान समारोह में प्रदेश के 48 शिक्षकों और 08 विद्यालयों को सम्मानित किया। समारोह की अध्यक्षता मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम कार्यक्रम में उपस्थित थे। 

 
 राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में 48 शिक्षकों को शाल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र और पुरस्कार राशि प्रदान कर सम्मानित किया गया। इनमें से 44 शिक्षक राज्य शिक्षक सम्मान और 4 शिक्षकों को प्रदेश के महान साहित्यकारों के नाम पर स्मृति पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही 8 उत्कृष्ट शालाओं को भी पुरस्कृत किया गया। समारोह में राज्य शिक्षक पुरस्कार 2018 के लिए चयनित 44 शिक्षकों में से प्रत्येक को 21 हजार रूपए की राशि और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। इसके अलावा प्रदेश के महान विभूतियों की स्मृति में दिए जाने वाले पुरस्कार से सम्मानित होने वाले प्रत्येक शिक्षक को 50 हजार रूपए और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में प्राथमिक, पूर्व माध्यमिक, हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्तर के दो-दो स्कूलों का चयन किया गया है। प्रत्येक प्राथमिक शाला को 10 हजार रूपए, पूर्व माध्यमिक शाला   और हाई स्कूल को 15-15 हजार और हायर सेकेण्डरी स्कूल को 25 हजार रूपए का पुरस्कार प्रदान किया गया।  समारोह मंे प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग गौरव द्विवेदी, संचालक लोक शिक्षण  एस. प्रकाश, संचालक राज्य शिक्षण एवं प्रशिक्षण परिषद  पी. दयानंद, विशेष सचिव स्कूल शिक्षा सौरभ कुमार, राज्यपाल के सचिव  सुरेन्द्र जायसवाल, शिक्षा विभाग के अधिकारी और सम्मानित शिक्षकों के साथ उनके परिजन भी उपस्थित थे।   

भूषण चंद्राकर
राज्य शिक्षक पुरस्कार-2018
राज्य शिक्षक पुरस्कार 2018 से सम्मानित होने वाले 44 शिक्षकों मेंअंतागढ़ की ललिता रंगारी और डुमाली की श्रीमती मीरा आर्ची चौहान, कोरबा जिले से पिपरिया ललित कुमार चन्द्रा, रायपुर जिले से केन्द्रीय जेल रायपुर के नेतराम नाकतोड़े और सखाराम दुबे कन्या प्राथमिक शाला विवेकानन्द आश्रम के पास की ममता अहीर, मुंगेली जिले से बांकी के   रूपचन्द्र पाटले, बालोद जिले से  खुंदनी-गुरूर केपूरनलाल साहू औ चौरेल-गुंडरदेही के  भुवनलाल सिन्हा, दुर्ग जिले के चरौदा टैंक-भिलाई की मित्राराय चौधरी और मतवारी के जिनेन्द्र कुमार जैन, कोरिया जिले से पोडीबदरा के  डी.के. उपाध्याय और  रोकड़ा-मनेन्द्रगढ़ केफूलसिंग, कबीरधाम जिले से  राजनवागांव के  शिवेन्द्र चन्द्रवंशी और सैगोना-कवर्धा की  अफसाना कुरैशी, जांजगीर-चांपा जिले से धनुरवारपारा-सौंधी के देवकुमार चंद्रवंशी और  पचेड़ा के बोधीराम साहू, सुकमा की रीना सिंह और  कोंटा के सुशील कुमार श्रीवास, बिलासपुर जिले से हरदीपारा-बिल्हा के योगेन्द्र कुमार गौराहा और टेंगनभाठ के  रघुवंश कुमार मिश्रा, गरियाबंद जिले से  तेतलखुटी-मैनपुर के व्याख्याता श्री कमलेश्वर प्रसाद बघेल और  उन्डूपदर के सहायक शिक्षक श्री उमेश कुमार श्रीवास, महासमुंद जिले से  कोमाखान के विजय कुमार शर्मा औरअछोली के एतराम साहू, बलरामपुर जिले से पेण्डारी-वाड्रफनगर की  सविता सिंह औरफूलीडूमर-वाड्रफनगर के बलराम प्रसाद गुप्ता, बेमेतरा जिले से बेरला के भूपेन्द्र कुमार परघनिहा और  कंडरका-बेरला केराजेन्द्र कुमार झा, रायगढ़ जिले के केराबहार-बरमकेला के कान्हूराम गुप्ता और  कछार के भुवनेश्वर पटेल, धमतरी जिले से शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खरतुली के व्याख्याता पंचायत भूषणलाल चन्द्राकर और शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला सलौनी के व्याख्याता  घनश्याम सिंह साहू, सरगुजा जिले से  महेशपुर के  सी.एल. दुबे और  जामझरिया-मैनपाट के अरविंद कुमार गुप्ता, राजनांदगांव जिले सेदयका-खैरागढ़ केरघुनाथ प्रसाद सिन्हा औरकोहलबोड़-खैरागढ़ अनुराधा सिंह, शिक्षा जिला सक्ती से भलनी-जैजैपुर के राघवेन्द्र प्रताप सिंह राठौर और  माजरकुंद के  टीकाराम सारथी, बलौदाबाजार जिले से खैरालवन केभागवत प्रसाद चन्द्राकर औरकेसदा के  चोवाराम वर्मा, जशपुर जिले से बालाछापर के  सादराम जगत और  जशपुर की गीता झा, दंतेवाड़ा जिले से आंवराभाटा के श्यामलाल शोरी और  व्याख्यातासुनीता गोस्वामी शामिल हैं।
राज्य स्मृति पुरस्कार
राज्य स्तरीय समारोह में प्रदेश की 04 महान साहित्यिक विभूतियों के नाम पर 04 शिक्षकों को राज्य शिक्षक सम्मान से नवाजा गया। इनमें जांजगीर-चांपा के रामनाथ साहू को ’’डॉ. मुकुटधर पाण्डेय स्मृति पुरस्कार’’, रायपुर की  रजनी शर्मा को ’’डॉ. बलदेव प्रसाद मिश्र स्मृति पुरस्कार’’, दुर्ग के  संजय कुमार मैथिल को ’’डॉ. पदुमलाल पुन्नालाल बक्शी स्मृति पुरस्कार’’ और गरियाबंद के संतोष कुमार साहू को ’’डॉ. गजानन्द माधव मुक्तिबोध स्मृति पुरस्कार’’ प्रदान किया गया। 
08 उत्कृष्ट विद्यालयों को भी किया गया पुरस्कृत
शिक्षक सम्मान समारोह में प्रदेश के 08 उत्कृष्ट विद्यालयों को भी पुरस्कृत गया। इनमें प्राथमिक शाला हरदीपार (कोरबी) विकासखण्ड बिल्हा जिला बिलासपुर को प्रथम, शासकीय प्राथमिक शाला सगोना विकासखण्ड कवर्धा जिला कबीरधाम को द्वितीय, पूर्व माध्यमिक शाला की श्रेणी में उड़कुड़ा विकासखण्ड चारामा जिला कांकेर को प्रथम और तवरबाहरा विकासखण्ड एवं जिला गरियाबंद को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया। हाई स्कूल श्रेणी में गोड़पारा विकासखण्ड अभनपुर जिला रायपुर को प्रथम और पतोरा विकासखण्ड पाटन जिला दुर्ग को द्वितीय और उच्चतर माध्यमिक विद्यालय श्रेणी में गोण्डाहूर विकासखण्ड कोयलीबेड़ा जिला कांकेर को प्रथम और डी.के.पी.टी. कोटा विकासखण्ड जिला बिलासपुर को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया।

 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने