गंगरेल जाने वाले मुख्य मार्ग से हटा बैरियर

कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम, डीएसपी ने स्थल निरीक्षण कर पार्किंग व्यवस्था का लिया जायजा

पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र के बजाय पार्किंग स्थल पर ही शुल्क लेने के दिए निर्देश 

धमतरी पर्यटन क्षेत्र के तौर पर विकसित हो रहे रविशंकर सागर (गंगरेल) जलाशय क्षेत्र में पर्यटकों के वाहन पार्किंग के संबंध में प्राप्त शिकायतों को लेकर कलेक्टर रजत बंसल ने एसडीएम, डीएसपी तथा जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को तत्काल स्थल निरीक्षण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे, जिसके तहत अधिकारियों ने गंगरेल पर्यटन क्षेत्र में मौजूदा पार्किंग व्यवस्था का निरीक्षण किया। इस संबंध में बताया गया कि उक्त क्षेत्र में पार्किंग की नवीन व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा पार्किंग शुल्क का पुनर्निर्धारण करने गंगरेल पर्यटन विकास समिति की बैठक कलेक्टर के द्वारा जल्द ही बैठक आहूत की जाएगी।


  अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) धमतरी श्रीमती योगिता देवांगन, डीएसपी  अरूण कुमार जोशी सहित पुलिस एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के दल ने मौके का निरीक्षण किया। इस दौरान गंगरेल जलाशय मार्ग पर स्थित पुलिस प्रशिक्षण स्थल के समीप संचालित बैरियर के बारे बताया गया कि जलाशय क्षेत्र में प्रवेश करने वाले वाहनों का शुल्क इसी स्थल पर लिया जाता था। वर्तमान में शुल्क के तौर पर दोपहिया वाहनों से 10 रूपए, कार, ट्रैक्टर से 50, मेटाडोर, मिनीबस से 100 तथा बड़ी बस से 200 रूपए लिए जा रहे हैं। इस पर एसडीएम ने शुल्क निर्धारण के बारे पूछा, जिस पर समिति के द्वारा पूर्व में निर्धारण किए जाने की बात कही गई। निरीक्षण के दौरान यह पाया गया कि वर्तमान बैरियर से अंगारमोती मंदिर के समीप निर्धारित पार्किंग क्षेत्र की दूरी लगभग एक किलोमीटर है। इस बीच में वाहन चालक द्वारा निर्धारित पार्किंग स्थल पर ही वाहन पार्क किया जा रहा है या नहीं, इसकी निगरानी नहीं की जा रही थी। इस प्रकार उक्त पार्किंग स्थल के अलावा अंगारमोती मंदिर के बगल से पार्किंग स्थल विकसित करने के प्रस्ताव को लेकर संबंधित अधिकारी को नजरी नक्शा तैयार करने के निर्देश एसडीएम ने दिए। अब सामने के बैरियर को हटा दिया गया है जिससे लोगो को रहत मिलेगी ,विदित हो कि गंगरेल पर्यटन क्षेत्र में पार्किंग व्यवस्था को लेकर लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही थीं, जिसे संज्ञान में लेकर कलेक्टर ने मौके का मुआयना करने तथा वस्तुस्थिति से अवगत कराने के निर्देश एसडीएम, डीएसपी तथा जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को दिए थे। साथ ही भीड़ वाले दिनों में उक्त क्षेत्र में यातायात के दबाव को नियंत्रित करने, सैलालियों के साथ-साथ श्रद्धालुओं की वाहन पार्किंग तथा आसपास के ग्रामीणों की निर्बाध आवाजाही को लेकर नए सिरे से व्यवस्थित करने के निर्देश कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को दिए हैं।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने