डील के बाद से ही गिल्टी महसूस कर रहा था-मंतूराम


अंतागढ़ टेपकांड में मंतूराम का पाला बदला

धारा 164 के  बयान  मे बड़े नेताओं का लिया नाम

रायपुर। अंतागढ़ उपचुनाव के दौरान खरीद-फरोख्त  के मामले में पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार ने मजिस्ट्रियल बयान देकर मामले का खुलासा किया है मंतूराम पवार ने मजिस्टे्रट के सामने धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराते हुए मान लिया है कि उसपर दबाव डालकर यह डील की गई थी। उसने बयान दर्ज करवाया है कि यह पूरी डील 7 करोड़ रुपए की थी और पूर्व मंत्री राजेश मूणत के बंगले पर हुई थी।
इस सियासी विस्फोट के बाद अंतागढ़ कांड में प्रदेश का पहला पॉलिटिकल क्राइम होने की सच्चाई में सबसे बड़ा सबूत माना जा रहा है। अंतागढ़ टेपकांड पूर्व मंत्री भाजपा राजेश मूणत और पूर्व सीएम रमन सिंह के दामाद डॉ.पुनीत गुप्ता को आरोपी बनाया था।  आज ही कोर्ट में इस मामले पर वायस सैंपल लेने नहीं लेने को लेकर बहस भी हुई और सुनवाई 12 सितंबर तक के लिए टल गई है।
ऐसे में अचानक ही पूरे मामले के अहम किरदार मंतूराम पवार ने ही पाला बदल लिया है। आज मंतूराम पवार ने मजिस्टे्रट के सामने धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराते हुए मान लिया है कि उसपर दबाव डालकर यह डील की गई थी। उसने बयान दर्ज करवाया है कि यह पूरी डील 7 करोड़ रुपए की थी और पूर्व मंत्री राजेश मूणत के बंगले पर हुई थी।
मंतूराम  ने कहा इस डील के बाद से ही वह गिल्टी महसूस कर रहा था। उसने कहा पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह, अजीत जोगी, अमित जोगी इस मामले में शामिल थे। पैसों का लेनदेन मूणत के सरकारी बंगले में हुआ था। विदित हो कि अंतागढ़ उपचुनाव में मंतूराम कांग्रेस उम्मीदवार थे और उन्हों ने ऐन मौके पर अपना नाम वापस लेकर सबको चौंका दिया था।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने