वेब पोर्टल काफी कारगर सिद्ध हो रहा है:अमरजीत भगत


पत्रकार अप्रत्यक्ष रूप से देश के आंतरिक सेना:रेणुका सिंह

 

अम्बिकापुर, छत्तीसगढ़ जर्नलिस्ट यूनियन के तत्वधान में संभाग स्तरीय पत्रकार सम्मेलन, सम्मान समारोह एवं शपथ ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन राजमोहिनी देवी भवन अंबिकापुर में किया गया जिसमें बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित हुए केंद्रीय राज्य मंत्री व सरगुजा सांसद रेणुका सिंह एवं छत्तीसगढ़ खाद्य प्रसंस्करण मंत्री अमरजीत भगत ने अपने मुख्य आसंदी से पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि पत्रकारों का स्थान समाज में सबसे महत्वपूर्ण है। पत्रकार वह कार्य का नाम है जिसमें ना तो पक्ष होता है ना विपक्ष केवल निष्पक्ष कार्य करते हुए निस्वार्थ भाव से लोगों की आम जनता की समस्याओं को लगातार उठाते रहते हैं कई मामलों में कठिन संघर्ष करना पड़ता है श्रीमती रेणुका सिंह ने कहा कि आज के कार्यक्रम में सबसे बड़ी बात यह है की विभिन्न दलों के नेताओं वह विभिन्न कंपनी व बैनर के तले काम करने वाले पत्रकारों को एकजुट कर एक मंच पर लाना सबसे चुनौतीपूर्ण कार्य था
 श्रीमती रेणुका सिंह ने पत्रकारों से आह्वान करते हुए कहा कि आप सभी समाज के व सजग प्रहरी हैं जिन्हें हर विषय की हर क्षेत्र की जानकारी रहती है आपके द्वारा उठाए गए समस्या या कोई मुद्दा या फिर कोई जनहित कार्यों को लेकर जो लेख प्रकाशित की जाती है उसकी विभाग वार कटिंग के माध्यम से ध्यानाकर्षण कर शासन-प्रशासन उचित समाधान करने का प्रयास करता है पत्रकारों के माध्यम से हमें पता चलता है कि हमारे आसपास से लेकर देश-विदेश तक क्या क्या घटनाएं हो रही हैं पत्रकार एक सेतु के समान जो शासन प्रशासन के बीच एक दूसरे की धुरी को जोड़ने का काम करती है आपके निस्वार्थ भाव से काम करने की सेवा का बखान शब्दों में नहीं किया जा सकता।जनप्रतिनिधि से लेकर कर्मचारियों आदि अन्य लोगों को तो भत्ता पारिश्रमिक इत्यादि भी मिलते हैं किंतु केवल पत्रकार है एक ऐसा है जो श्रमजीवी की तरह रहकर बगैर अपने जान माल व परिवार जनों की कोई परवाह किए बगैर किसी स्वार्थ लाभ मानदेय के दिन-रात समाज व अपने गांव जिला राज्य देश राष्ट्र का नाम को रोशन करने में हमेशा सजगता के साथ दिन-रात खड़ा रहता है। उन्होंने पत्रकारों को अप्रत्यक्ष रूप से देश का आंतरिक सेना की उपाधि देते हुए हर संभव पत्रकार हित में मदद करने आश्वासन दिया।कार्यक्रम में उपस्थित भाजपा प्रदेश सचिव अनुराग सिंह देव ने भी पत्रकारों को संवैधानिक दर्जा के तहत चौथा स्तंभ बताते हुए कहा कि टेलीविजन, अखबार, वेब पोर्टल, सोशल मीडिया ही एक ऐसा माध्यम है जिससे हमें सीखने को मिलता है व आम जनताओं के समस्या से लेकर योजना तक के बारे में रूबरू कराता है।

पारिश्रमिक पत्रकारों के हित को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार पूरी तरह गंभीर – भगतकार्यक्रम में ही उपस्थित छत्तीसगढ़ के खाद्य एवं प्रसंस्करण संस्कृति, पर्यटन मंत्री सीतापुर विधायक अमरजीत भगत ने सर्वप्रथम पत्रकारों को बधाई देते हुए कहा कि आज के परिवेश में पत्रकारों की भूमिका अहम हो गई है कई दलों के वैचारिक मतभेद की वजह से कई पात्र लोग विभिन्न शासकीय योजनाओं से वंचित रह जाते हैं या किसी तरह उनसे भेदभाव किया जाता है तो कोई उचित संस्थान या जगह में न पहुंच पाने के कारण अपनी बात को नहीं रख पाता है तथा उसे न्याय भी नहीं मिल पाता है जिसको हमारे पत्रकार भाई हर एक बिंदु को प्रमुखता के साथ उठा शासन प्रशासन का ध्यान आकर्षण कराते हैं और हरसंभव हम उन तक पहुंच समस्या का निदान करते हैं कई ऐसे मामले सामने हैं जिनका निराकरण या लोगों की समस्याओं का समाधान प्रेस जगत की भूमिका से हो पाया है।खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने पत्रकारिता के उन दिनों की याद करते हुए कहा कि जब हम आजाद नहीं हुए थे तो पत्रकार पत्रकारों के द्वारा ही देश में क्रांति लाकर अंग्रेजों से आजादी दिलवाने में भी अहम भूमिका पत्रकार जगत ने निभाई थी आज भी कई ऐसी हमारे पहुंच क्षेत्रों में रहने वाले कई ऐसे लोग हैं जो किसी समस्या से अन्याय से या किसी से पीड़ित हैं उन्हें आजादी दिलाने का निरंतर काम आज की मीडिया कर रही है वर्तमान का परिवेश बदला है प्रिंट मीडिया के अलावा अब इंटरनेट के माध्यम से वेब पोर्टल यूट्यूब सोशल मीडिया का दौर चल पड़ा है जो काफी कारगर सिद्ध हो रहा है सोशल मीडिया एक ऐसा मीडिया है जो तेजी से सभी समाचार को फैलाता है और समाधान भी उतनी तेजी से होता है उन्होंने पत्रकारों को कहा कि यह भी पत्रकार भाई हैं जो निस्वार्थ भाव से एक व्यक्ति नहीं समाज नहीं बल्कि पूरे राज देश तक का आवाज को जन जन तक पहुंचाते हैं किंतु विडंबना है कि आज पर्यंत उनके लिए कोई भी प्रकार की साधन सुविधा उपलब्ध नहीं है।छत्तीसगढ़ की सरकार पत्रकारों के हित में शुरू से ही संवेदनशील रही है हमने चुनावी घोषणा पत्र में भी बड़े से लेकर निचले गांव तक के क्षेत्र में काम करने वाले पत्रकारों के लिए अधिमान्यता वह पत्रकार सुरक्षा नियम के साथ पारिश्रमिक की घोषणा की थी जो अब पूरा होने जा रहा है पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर मुख्यमंत्री जी ने सार्वजनिक रूप से पहले भी वह रायपुर में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में भी मंच से स्वयं घोषणा कर जल्द से जल्द लागू करने की प्रतिबद्धता को दोहराई है माननीय मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि पत्रकार जब घर से निकलता है तो सर पर कफन बांध कर निकलता है उसे पता नहीं रहता है कि वह वापस आएगा या नहीं आएगा इतनी बड़ी त्याग व बलिदान देने के लिए तैयार रहने वाले पत्रकार भाइयों के प्रति छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पूरी ईमानदारी के साथ उनके हित की रक्षा वह परिवार जनों की सुरक्षा के लिए संकल्पित है, जल्द ही इसे प्रदेश में लागू भी कर दिया जाएगा।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने