सेवा एक अद्भुत यज्ञ के समान : साध्वी ऋतंभरा



वात्सल्य ग्राम में नि:शुल्क नेत्र शल्य चिकित्सा शिविर का हुआ समापन

 

-मुख्य अतिथि मनोज तिवारी एवं प्रदेश के मंत्री कपिलदेव अग्रवाल रहे मौजूद

-साध्वी ऋतंभरा द्वारा किए जा रहे सेवा कार्यों को बताया अकल्पनीय
वृंदावन। वात्सल्य ग्राम स्थित प्रेमवती नेत्र चिकित्सालय में साध्वी ऋतम्भरा के अंधता निवारण अभियान अंतर्गत आयोजित निःशुल्क नेत्र शल्य चिकित्सा शिविर का समापन साध्वी ऋतम्भरा एवं मुख्य अतिथि भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी द्वारा मरीजों को औषधि एवं चश्मा वितरण के साथ हुआ। शिविर में 310 मोतियाबिन्द रोगियों का सफल आपरेशन किए गए।
 साध्वी ऋतम्भरा ने कहा कि सेवा एक अद्भुत यज्ञ के समान है। जिसमें हम सबकी सांसों की आहुति जलती है। पूजा मंदिर की सीमा में ही नहीं होती जीवन भी कभी पूजा बन जाता है। जब धर्ममय जीवन बनता है तो प्रत्येक कार्य धर्ममय हो जाता है।
मुख्य अतिथि भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि वात्सल्य ग्राम में दीदी मां साध्वी ऋतंभरा सेवा का जो कार्य कर रही हैं वह अकल्पनीय है। कहा कि रामजन्म भूमि आन्दोलन के समय भारत की पीड़ा को जिस तरह से दीदी मां ने इस देश की जनता के सामने रखा। अब कुछ ही दिनों में उस पीड़ा का समाधान मिलने वाला है।
विशिष्ठ अतिथि प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग के मंत्री कपिलदेव अग्रवाल ने कहा कि साध्वी ऋतम्भरा बच्चों को जीवन देने का कार्य कर रहीं हैं वह अत्यन्त सराहनीय है। जिन बच्चों को माता पिता नहीं पाल सकते उन बच्चों को माता पिता का प्यार देकर परिवार देना मां, मौसी और नानी के रिश्ते देना बहुत बड़ी बात है।
शिविर में मोतियाबिंद आपरेशन के लिए चयनित 310 मरीजों के नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. श्याम अग्रवाल के नेतृत्व में आए डा. आनन्द जयपुरिया, डा. राहुल जैन, डा. मयूर अग्रवाल, डा. अनुज वाहुवा, डा. जुगल शाह, डा. सौरभ रामुका, डा. जूही अग्रवाल आदि डाक्टरों की टीम ने सफलता पूर्वक आपरेशन किए। समापन पर मुख्य अतिथि मनोज तिवारी एवं साध्वी ऋतंभरा द्वारा सभी मरीजों को औषधि एवं चश्मा नि:शुल्क प्रदान किए गए।
इस अवसर पर परम शक्ति पीठ के सचिव संजय गुप्ता, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय भगवान अग्रवाल, कोषाध्यक्ष अशोक सरीन, महेश खण्डेलवाल, नन्दकिशोर अग्रवाल, ओम प्रकाश गोयंका, साध्वी सत्यप्रिया, विभोर प्रकाशम, स्वामी सत्यशील, मीनाक्षी अग्रवाल आदि उपस्थित थे। संचालन डा. उमाशंकर राही ने किया।
..........

-

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने