केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन महज नौटंकी: पवन साहू





उत्तम साहू
बालोद। जिस घोषणा पत्र के सहारे कांग्रेस सत्ता में आई औऱ किसानों को2500रु में धान खरीदी, किसानों का पूर्ण कर्ज माफ,बकाया बोनस राशी, पूर्ण शराबबंदी, बेरोजगारी को भत्ता, जैसे लोकलुभावन वादा किया गया लेकिन आज अपने किये गए वायदों से को पूरा नहीं कर रही हैं। जिले के संजारी बालोद विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी रहे किसान नेता पवन साहू ने कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन को आड़े हाथों लेते हुए प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि किसानों को 2500 रु धान का समर्थन मूल्य और 400 रु बोनस का वादा करके कांग्रेस बीते विधानसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ की सत्ता में पहुंची थी औऱ प्रदेश की भुपेश सरकार अपने वादों से मुकरने की तैयारी में जुट गई है और इसके लिए नए बहाने तलाशने का राजनीतिक प्रयास शुरू कर चुकी है।इसी के चलते प्रदेश की कांग्रेस सरकार अब केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए दिल्ली कूच करने जा रही है ताकि किसानों को धोखा दिया जा सके।
गंगाजल लेकर ली शपथ
पवन साहू ने कहा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने घोषणा पत्र में कहा है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनती हैं तो छत्तीसगढ़ के किसानों के हर तरह का कर्ज माफी किया जाएगा वही कांग्रेस के द्वारा पवित्र गंगाजल को हाथ में लेकर जिस तरह का कसम खाई थी उसी पवित्र कसम पर प्रदेश के जनता ने यकीन कर प्रदेश में सत्ता सौंप दिया।अब सरकार बनते ही कांग्रेस सरकार इन किये गए वायदों को पूरा नहीं कर पा रही हैं और इसका तोहमत केंद्र सरकार पर लगा रही हैं।श्री साहू ने कहा कि कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार से पूछकर तो वायदे नही किये थे।दूसरी ओर भुपेश सरकार अपने आप को किसानों की हितैषी कहती हैं और इसके नेता कहते थे कि हमारा प्रदेश के लिए ब्लूप्रिंट तैयार है तो फिर आज इन्हें मोदी सरकार की इनको क्या जरूरत आन पड़ी है।उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के जो नियम है उसका पालन किया जा रहा है।पूर्व में भी मोदी सरकार ने रमन सरकार को कोई भी अतिरिक्त धनराशि नही दी थी।
आज कांग्रेसी वादे के चक्कर में किसान कर्ज के दलदल में फंस चुके हैं जबकि आधे किसानों का कर्ज माफी नहीं हुआ है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने