29 को मिलेंगे ज्योतिष और वास्तु के सारे ज़वाब,प्रदेशभर के विद्वानों का वृंदावन हॉल में होगा जमावड़ा


रायपुर। अगर आप भी ज्योतिष और वास्तु शास्त्र में रूचि रखते है तो  आपके लिये एक बड़ी ख़ुशख़बरी है। एस्ट्रो-वास्तु रिसर्च सोसायटी रायपुर द्वारा छत्तीसगढ़ स्तरीय एकदिवसीय ज्योतिष एवं वास्तु सम्मेलन का आयोजन किया गया है । जिसमें आपके सवालों के ज़वाब तो मिलेंगे ही, साथ ही अगर आप भी इन विधा में कुछ जानते है तो यह सोसायटी आपको भी मंच प्रदान करेगी।  
  पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए कार्यक्रम के आयोजक वास्तुशास्त्री पंडित देवनारायण शर्मा ने बताया कि 29 दिसंबर रविवार को वृंदावन हाल सिविल लाइंस रायपुर में एक दिवसीय ज्योतिष एवं वास्तु सम्मेलन आयोजित किया गया है। यह सम्मेलन ज्योतिष एवम वास्तु शास्त्र की प्राचीन विद्या के ऊपर काम कर रहे छत्तीसगढ़ के विभिन्न विद्वान ज्योतिषी एवं वास्तु सलाहकार को समर्पित है  जो अपने क्षेत्र में स्थापित नाम है । इस कार्यक्रम में ऐसे विद्वान भी आमंत्रित हैं जिनको आज तक अपनी प्रतिभा को सार्वजनिक रुप से दिखाने का अवसर प्राप्त नहीं हुआ है । 
वास्तु शास्त्र एवं ज्योतिष हमारी भारतीय जीवन पद्धति से गहराई तक जुड़ी हुई है हमारे जीवन का लगभग हर क्षेत्र इससे प्रभावित होता है । गृहनिर्माण , गृहप्रवेश शादी व्याह , नामकरण आदि रोजमर्रा के कार्यों को शुभ मुहूर्त में प्रारंभ किया जाता है ।  यहां तक की कृषि कार्य को भी शुभ मुहूर्त देख कर प्रारंभ किया जाता है ।
किसी भी भवन का वास्तु  उस भवन की निवासियों और उसमें कार्य कर रहे लोगों को प्रभावित करता है । छत्तीसगढ़ में बन रहे सभी निर्माण कार्य वास्तुशास्त्र के अनुसार बनना चाहिए । हम छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किए जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यो में  निशुल्क सेवा देने हेतु भी तैयार है । शासकीय भवन वास्तु अनुरुप बनने पर ज्यादा उपयोगी एवं उद्देश्यपूर्ण बन सके इसके लिए हम सभी प्रयत्नशील हैं ।
इस आयोजन का उद्देश्य विभिन्न विद्वानों को एक मंच पर लाकर इन विधाओं पर गहराई से विज्ञान सम्मत विचार करना और आम जन सामान्य को इस से लाभ मिले इस उद्देश्य से इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है ।
यह कार्यक्रम पूरी तरह से निशुल्क हैं एवं विद्वानों के अलावा सामान्य जिज्ञासु भी इसमें सादर आमंत्रित हैं। कार्यक्रम में प्रमुख रुप से डॉ ए डी शर्मा रायपुर , डॉ गिरधर शर्मा बिलासपुर , डॉ शैलेश नायडू कोरबा , डॉ तुलसी प्रसाद शर्मा दुर्ग , डॉ अनिल वर्मा भिलाई के साथ साथ  200 से अधिक प्रतिनिधी हिस्सा लेंगे। 
   सम्मेलन के पहले सत्र में सुबह 10 बजे से 1:00 बजे तक ज्योतिष , कुंडली विज्ञान एवं हस्तरेखा पर विस्तृत चर्चा होगी ।  द्वितीय सत्र में 2 से 5:00 बजे तक वास्तुशास्त्र एवं अध्यात्म पर गहन चर्चा होगी । सम्मेलन में इस विषय पर भी चर्चा की जाएगी कि एस्ट्रो वास्तु रिसर्च सोसायटी द्वारा छत्तीसगढ़ में इन विधाओं के अध्ययन ,अध्यापन के लिए हम कैसे अपनी सेवाएं दे और नए लोगों को वैज्ञानिक तरीके से ज्योतिष वास्तु शास्त्र की शिक्षा दी जा सके।

1/Post a Comment/Comments

  1. बहुत अच्छी जानकारी.. वास्तु और ज्योतिष के जिज्ञासुओ के लिए..

    जवाब देंहटाएं

टिप्पणी पोस्ट करें

नया पेज पुराने