जज्बे को सलाम!बुलेट पर गुजरात के बुजुर्ग दंपति निकले ज्योर्तिलिंग दर्शन करने


अब तक 25000 किलोमीटर का सफर तय कर चुके हैं



भूपेंद्र साहू
धमतरी।मन में कुछ करने की लालसा, जज्बा हो तो हर मुकाम हासिल किया जा सकता है उसमें उम्र आड़े हाथों नहीं आती ।यह कर दिखाया गुजरात वडोदरा के चौहान दंपति ने जो 12 ज्योतिर्लिंग दर्शन करने निकल पड़े हैं और वे धमतरी होते हुए आगे जगदलपुर की ओर निकल गए।गुजरात वडोदरा के रहने वाले 76 वर्षीय मोहन चौहान अपनी पत्नी लीला चौहान के साथ बुलेट वाहन में कन्याकुमारी के लिए निकले हैं ।पत्नी को बिठाने के लिए साइड में छोटी ट्राली लगा रखा है और जिंदगी का आनंद लेते हुए भी निरंतर आगे बढ़ते जा रहे हैं ।
 
शुक्रवार की दोपहर रायपुर से जगदलपुर के जाते समय थोड़ी देर के लिए मकई चौक में रुके जहां यातायात पुलिस ने उन्हें जूस पिलाकर आगे विदा किया ।मोहन चौहान ने चर्चा करते हुए बताया कि वे रोजाना लगभग ढाई सौ किलोमीटर का सफर तय करते हैं। अब तक 25000 किलोमीटर चल चुके हैं ।अभी रायपुर से धमतरी होते हुए आगे जगदलपुर हैदराबाद से कन्याकुमारी पहुंचेंगे। वहां से गोवा महाराष्ट्र होते हुए वडोदरा वापस जाएंगे। रास्ते में निरंतर लोगों का प्यार और स्नेह मिल रहा है ।
 
बुलेट पर जाने के मामले में उन्होंने कहा कि जिंदगी का आनंद लेते हुए आगे जाना चाहते हैं ।नक्सल क्षेत्र में जाने की बात पर उनकी पत्नी लीला ने कहा कि नक्सलियों के लिए उनका एक संदेश है जो डर गया वह मर गया ।इतनी उम्र में ऐसा सफर देखकर लोगों ने एक ही शब्द कहा  इनके जज्बे को सलाम।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने