राशन वितरण की प्रक्रिया जानने विंध्वासिनी वार्ड पहुंचे कलेक्टर


नगर निगम द्वारा प्रतिदिन की जा रही राशन सामानों की होम डिलीवरी

 

धमतरी। कोरोना वायरस (कोविद-19) के संभावित संक्रमण की जिले में रोकथाम एवं नियंत्रण को लेकर 25 मार्च से जारी तालाबंदी के दौरान नगरवासियों को राशन सामानों की होम डिलीवरी सर्विस (घर पहुंच सेवा) प्रदान करने के लिए कलेक्टर  रजत बंसल ने नगरपालिक निगम के आयुक्त को दिए थे, जिससे कि राशन के लिए दुकानों में भीड़ न जुट पाए। उक्त निर्देश पर फौरी तौर पर अमल करते हुए निगम के आयुक्त आशीष टिकरिहा ने 26 मार्च से नागरिकों से प्राप्त मांग के आधार पर घरों में राशन सामग्री की होम डिलीवरी सर्विस शुरू कर दी। कलेक्टर ने घर पहुंच सेवा की प्रक्रिया से अवगत होने स्थानीय विंध्यवासिनी वार्ड का दौरा किया, जहां पर उन्होंने डिलीवरी सिस्टम के बारे में जानकारी ली।

नगर निगम के आयुक्त ने कलेक्टर को बताया कि सबसे पहले निगम द्वारा जारी किए गए मोबाइल नंबर 7470739265 पर काॅल अथवा व्हाटसएप आता है जिसमें राशन सामग्रियों के नाम और मात्रा का उल्लेख रहता है। उक्त सामानों को ऐसे दुकानदार से सम्पर्क किया जाता है जो ग्राहक की लोकेशन से सबसे नजदीक है। इसके अलावा ग्राहक से उनकी पसंद अथवा प्राथमिकता वाली दुकान से सामान क्रय करने की भी सुविधा दी जाती है। उक्त सामानों की कुल राशि दुकानदार से लेकर ग्राहक को बता दिया या भेज दिया जाता है। इसके बाद ग्राहक के द्वारा सहमति दिए जाने के बाद दुकान से सामानों का पैक तैयार कर निगम कर्मी के द्वारा उसके घर पर जाकर दिया जाता है तथा राशि लेकर वापस दुकानदार के पास पहुंचकर दे दी जाती है। उन्होंने यह भी बताया कि इसके तहत शहर की 142 किराने की दुकानों की सूची जारी की गई है, जहां से राशन सामग्री डिलीवरी वाहनों के माध्यम से भेजी जाती है।

इसके अलावा डिलीवरी के दौरान सभी सामानों की गिनती कराकर ग्राहक से पुष्टि भी कराई जाती है। इस पूरी प्रक्रिया में दोनों पक्षों (दुकानदार और ग्राहक) से बाकायदा पावती भी ली जाती है। इस दौरान सामानों की डिलीवरी देने वाले कर्मी के द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग के समस्त नियमों का बाकायदा पालन किया जाता है ग्राहकों से एक मीटर से अधिक दूरी बनाए रखने, सामान की डिलीवरी के बाद हाथों को हैण्डवाॅश से धोने की समझाइश भी दी जाती है। सुरक्षात्मक उपाय के तौर पर डिलीवरी बाॅय के द्वारा हाथों में ग्लव्स, मुंह पर मास्क पहनकर घर पर सभी सामान छोड़े जाते हैं और ग्राहकों से शासन के नियमों-निर्देशों का पालन करने के संबंध में अनुरोध भी किया जाता है। आयुक्त ने बताया कि शनिवार को कुल 13 नागरिकों को होम डिलीवरी सर्विस के तहत राशन पहुंचाई जा चुकी है, जबकि अब तक कुल 38 लोगों को होम डिलीवरी दी जा चुकी है। कलेक्टर ने उक्त सिस्टम को और बेहतर बनाते हुए अधिक से अधिक नागरिकों को इसका लाभ दिलाने के निर्देश आयुक्त को दिए।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने