मुख्यमंत्री ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुरक्षा एवं सतर्कता बरतने के दिए निर्देश




नोवल कोरोना के नियंत्रण हेतु राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण स्थापित

धमतरी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वीडियो काॅन्फें्रसिंग के माध्यम से सभी जिले के कलेक्टरों से संकट की आसन्न घड़ी में धैर्य, सतर्कता, सूझबूझ तथा विवेकपूर्ण काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी कलेक्टरों को प्रत्यक्ष मीटिंग के स्थान पर वीडियो काॅन्फे्रंसिंग आयोजित करने, बस स्टाॅप, रेलवे स्टेशन में विशेष हैण्डवाॅश तथा सैनिटाइजर की व्यवस्था सुनिश्चित करने, मेडिकल स्टोर्स में मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसके पूर्व, प्रदेशवासियों से शासन-प्रशासन का सहयोग करने की भी अपील की।

इसके पहले, मुख्य सचिव  आर.पी. मण्डल एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव सुब्रत साहू ने प्रदेश में कोविद-19 नोवल कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण के विस्तार को ध्यान में रखते हुए वी.सी. के जरिए अनेक निर्देश दिए। इस दौरान बताया गया कि उक्त वायरस के संक्रमण के प्रबंधन एवं नियंत्रण के लिए राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की स्थापना की गई है। वीसी में यह भी निर्देश दिए गए कि जिला स्तर पर एक कोर कमेटी का गठन किया जाए, जिसमें कोरोना वायरस के नियंत्रण के संबंध में प्रशासनिक गतिविधियां संचालित की जाएंगी। वी.सी. में यह भी निर्देश दिया गया कि विदेशों की यात्रा कर आए लोगों को प्राथमिक से चिन्हांकित कर उन्हें क्वारंटनाइन सेंटर में शिफ्ट करें। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग, राजस्व, पुलिस तथा परिवहन विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों के अवकाश तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाए। इसके अलावा नगरीय निकायों में भीड़ का जमावड़ा नहीं होने देने, चैपाटी, क्लब, कोचिंग संस्थानों को आगामी 31 मार्च तक बंद रखने, निगम क्षेत्रांतर्गत वार्ड कार्यालयों का उपयोग कोरोना हेल्प डेस्क के तौर पर उपयोग में लाने, कार्यालयों में फाइलों की मूवमेंट कम करने, धार्मिक आयोजनों-अनुष्ठानों तथा सामूहिक प्रार्थना आदि को विवेकपूर्ण ढंग से सीमित अथवा नियंत्रित करने, मांगलिक उत्सवों को यथासंभव स्थगित रखने के संबंध में अनुरोध करने के लिए कहा गया। इसी तरह यात्री बसों में वायरसरोधी दवाओं का छिड़काव करने, कोरोना वायरस के समान लक्षण वाले यात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण करने सहित अनेक निर्देश वी.सी. में दिए गए। इस अवसर पर कलेक्टर रजत बंसल, एसपी  बीपी राजभानू, डीएफओ अमिताभ बाजपेयी, जिला पंचायत की सी.ई.ओ. नम्रता गांधी, एएसपी मनीषा ठाकुर, निगमायुक्त  आशीष टिकरिहा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. डी.के. तुर्रे सहित विभिन्न विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।


कोरोना वायरस से सतर्कतापूर्वक बचने कलेक्टर ने की अपील
कलेक्टर रजत बंसल ने विश्व स्तर की आपात समस्या का रूप ले चुके कोविद-19 नोवेल कोरोना वायरस के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए जिलावासियों से सतर्कता बरतने की अपील की है। कलेक्टर ने अपनी अपील में कहा है कि जैसा कि सर्वविदित है कि उक्त वायरस का तीव्रता से प्रसार भीड़भाड़ वाली जगहों में अथवा संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से होता है अथवा इसकी आशंका बलवती हो जाती है। होटल, रेस्टोरेंट, टपरी आदि स्थानों में काफी संख्या में लोग एक साथ एकत्रित हो जाते हैं जिससे उक्त बीमारी के फैलने की आशंका बनी रहती है। कलेक्टर ने जिले के सभी रेस्टोरेंट, होटल संचालकों से अपील की है कि अपने व्यावसायिक संस्थानों को 31 मार्च तक यथासंभव बंद रखने का प्रयास करें। यदि यह संभव न हो तो अपने संस्थान में स्वच्छता बरतें और सभी कर्मचारियों के लिए हैण्ड ग्लव्स, मास्क आदि की सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराएं। साथ ही संस्थान में आने वाले व्यक्तियों के मध्य न्यूनतम एक मीटर की दूरी रखना जाना सुनिश्चित करें। इसके अलावा संस्थान में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को हैण्डवाॅश एवं सेनिटाइजर का उपयोग अनिवार्य रूप से करने का अनुरोध करें व उनसे सतर्कता बरतने का आव्हान करें।
स्वास्थ्य विभाग की अपील:- इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी कतिपय अपील जारी की गई है। अपील में कहा गया है कि जहां तक संभव को मरीजों के द्वारा चिकित्सकों से दूरभाष अथवा मोबाइल पर सम्पर्क कर सामान्य बीमारियों के बारे में सलाह लें तथा चिकित्सक दूरभाष पर ही दवाओं के लिए प्रेस्क्राइब करें। इसी तरह यदि किसी तरह की आपातकालीन स्थिति न हो तो मरीज अस्पताल में पहुंचने से परहेज करें। साथ ही अस्पतालों में भर्ती मरीजों के साथ एक ही परिजन अथवा अटेंडेंट रहें। यदि आवश्यक न हो तो सामान्य बीमारियों के मरीज आगामी 31 मार्च तक ऐसी सर्जरी या आॅपरेशन से बचें, जैसे मोतियाबिंद, फिजियोथेरपी आदि। अस्पताल अधीक्षक डाॅ. मूर्ति ने बताया कि सांस संबंधी तकलीफ वाले मरीजों के लिए बाह्य रोगी विभाग के कक्ष क्रमांक-113 में पृथक् कक्ष की स्थापना की गई है, जहां श्वसन बीमारियों से संबंधित रोगी सम्पर्क कर उपचार करा सकते हैं।



सामाजिक सम्मेलन, बैठक, आयोजन आदि नहीं करने का आव्हान
धमतरी।कोरोना वायरस का जिले में संभावित संक्रमण के नियंत्रण के लिए कलेक्टर  रजत बंसल ने जिले के विभिन्न समाज के प्रमुखों से ऐसे सम्मेलन, बैठकें, आयोजन आदि नहीं करने का आव्हान किया है, जिससे उक्त वायरस का संक्रमण विस्तारित हो सके। उन्होंने वर्तमान में उक्त वैश्विक आपदा को दृष्टिगत करते हुए समाजजनों से यह आव्हान किया है कि सड़कों, चैक-चैराहों पर खुली जगहों में वैवाहिक उत्सव, बर्थ डे, जन्मोत्सव, धार्मिक अनुष्ठानों एवं आयोजनों को हतोत्साहित करें। उन्होंने कहा है कि शादी तथा अन्य सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन बंद परिसरों में ही करें, जिसमें जहां तक संभव हो कम से कम लोगों को आमंत्रित करें, जिससे वायरस के संक्रमण के खतरे को यथासंभव टाला जा सके।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने